उत्तर प्रदेशः बदायूं की सरकारी गोशाला में 22 गोवंशीय पशुओं की मौत

0
34

जयपुर।   उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले के कक्षा नगर पंचायत स्थित सरकार द्वारा संचालित गौशाला में चारा खाने के बाद करीब 22 गांव वंशीय पशुओं की मौत हो गई है और करीब 55 बीमार हो गए हैं. वहीं आपको बता दें कि इस पूरे मामले को लेकर जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

आपको बता दें कि जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिन्हा के द्वारा सोमवार को बताया गया है कि अगर नगर पंचायत का छाल के गौशाला में 11 गायों 7 बछड़े और बछिया समेत 22 जानवरों को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है वहीं मृत्यु के वास्तविक कारणों का पता लगाने के लिए भारतीय पशु अनुसंधान संस्थान से विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम को भी बुलाया गया है और उन स्टीम ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पशुओं द्वारा अधिक हरा चारा खाने के चलते उनके शरीर में नाइट्रोजन की मात्रा अधिक हो गई है और नाइट्राइट विषाक्त की वजह से उनकी मृत्यु हुई है.

वही आपको बता दें कि जिलाधिकारी ने बताया है कि गौशाला के सभी जानवरों को शनिवार की रात करीब 8:00 बजे बाजरे का हरा चना दिया गया था वही आईवीआरआई वैज्ञानिकों की एक टीम ने सोमवार को कछला गांव की गौशाला पहुंची और वहां मवेशियों को दिए गए चारे और पानी के नमूने की जांच के लिए इकट्ठा कर लिया गया वहीं आपको बता दें कि इस मामले में छपी एक खबर के अनुसार उझानी थाने के एसएचओ विनोद कुमार सिन्हा ने बताया है कि रविवार की शाम को मवेशियों को नियमित तौर पर दिए जाने वाले चारे के साथ बाजरे का हरा चारा भी दिया गया था जिसके बाद में बीमार पड़ गई और उसी के बाद गोवंश की मौत हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here