आ गई है बायोमैट्रिक पैन ड्राइव, फिंगरप्रिंट से चलेगी

इस पैन ड्राइव से डाटा को कॉपी करनेे के लिए यूजर को पहले इस पर अपनी फिंगर को स्कैन करना होगा। यह लोगों के लिए यह काफी उपयोगी साबित होगी।

0
65

जयपुर। मौजूदा दौर में सूचना ज्यादातर डिजिटल रूप में संग्रहित होने लगी है। तो ऐसे में डेटा को एक जगह से दूसरी जगह लाने ले जाने के लिए पैन ड्राइव का ही इस्तेमाल किया जाता है। मगर कई बार आपकी यूएसबी ड्राइव किसी दूसरे के हाथ लगने पर आपकी निजी जानकारी सार्वजनिक हो सकती है। इसी वजह से अब एक ऐसी पैन ड्राइव आ गई है, जिसमें आपकी उंगलियों के निशान मैच होने पर ही पासवर्ड खुल पाएगा।

जी हां, अब तक पैन ड्राइव में सामान्य तरह के पासवर्ड ही इस्तेमाल किये जाते रहे हैं, मगर पहली बार फिंगरप्रिंट वाली पैन ड्राइव विकसित की गई है। अब आपका डाटा बिना आपके फिंगरप्रिंट्स के चोरी नहीं किया जा सकेगा। क्रोएशिया के रहने वाले एक शोधकर्ता जैक फ्री ने यह अनोखी फिंगरप्रिंट लॉक वाली पैन ड्राइव बनाई है।

इसे दुनिया की पहली बायोमैट्रिक यूएसबी ड्राइव कहा गया है। इसको इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले यूजर को इस पर बने हुए पोर्ट पर अपनी फिंगर को स्कैन करना होगा। इसके बाद हरी झंडी मिलने पर ही पैन ड्राइव इस्तेमाल करने लायक बनेगा। अगर उंगलियों के निशान मैच नहीं होते हैं तो यह पैन ड्राइव किसी भी कीमत पर काम में नहीं लिया जा सकेगा। हालांकि इस तकनीक की वजह से फिलहाल यह पैन ड्राइव थोड़ी महंगी जरूर है, मगर आने वाले समय में इसकी कीमतों में कटौती की जाएगी।

इस तरह की पैन ड्राइव में दो तरह के दो तरह के मोड होंगे। यूजर इसमें डेटा को पब्लिक तथा प्राइवेट सैक्टर्स में सहेज सकता है। आपको बता दे कि पब्लिक सैक्टर में सुरक्षित किया गया डेटा कोई भी पढ़ सकेगा। जबकि प्राइवेट सैक्टर में सेव किया गया डेटा केवल एडमिनिस्ट्रेटर के फिंगरप्रिंट मैच होने के बाद ही काम में लिया जा सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here