अमेरिकी एजेंसी फिच ने एसबीआई, बीओबी की रेटिंग घटाई

0
165

अमेरिकी एजेंसी फिच रेटिंग्स ने बुधवार को सरकारी भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) और बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) दोनों की व्यवहार्यता रेटिंग (वीआर) एक पायदान घटा दी और एसबीआई, बीओबी, केनरा बैंक और बैंक ऑफ इंडिया की लांग-टर्म इश्यूअर डिफाल्ट रेटिंग्स (आईजीआर्स) स्थिर दृष्टिकोण के साथ ‘बीबीबी’ कर दी। अमेरिकी एजेंसी ने कहा कि एसबीआई के वीआर को एक पायदान घटाकर ‘बीबीप्लस’ से ‘बीबीबीमाइनस’ कर दिया गया है, जो बैंक के कमजोर पूंजीकरण, लंबे समय से जारी परिसंपत्ति गुणवत्ता की समस्या और कमजोर कमाई को दर्शाता है।

भारतीय बैंकों पर नकारात्मक क्षेत्र का ²ष्टिकोण रखने वाले फिच ने एक बयान में कहा, “फिच ने एसबीआई और बीओबी की व्यवहार्यता रेटिंग (वीआर) को ‘बीबीप्लस’ से एक पायदान घटाकर ‘बीबी’ कर दिया है, जो लगातार कमजोर संपत्ति गुणवत्ता और पूंजी पर कमाई के नकारात्मक प्रभाव और कमजोर आंतरिक जोखिम प्रोफाइल को दर्शाता है।”

फिच ने बयान में कहा, “बैंकों के मूल पूंजी बफर भी मध्यम झटके के लिए अधिक कमजोर दिखाई देते हैं।”

बयान में कहा गया है कि भारत के 21 सरकारी बैंकों में से 19 ने पिछले वित्त वर्ष में घाटे की सूचना दी है, इन बैंकों में सरकार ने इस साल 13 अरब डॉलर की पूंजी डाली है।

फिच ने कहा, “हमारा मानना है कि विकास के लिए और बैलेंसशीट को मजबूत बनाने के लिए इन बैंकों में और पूंजी लगाने की जरूरत है।”

फिच ने इंगित किया कि एसबीआई के गैर निष्पादित ऋण अनुपात (फंसे हुए कर्जे) में 11 फीसदी की वृद्धि हुई है, जिससे मूल पूंजी पर जोखिम बढ़ा है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here