मध्य प्रदेश में बेरोजगार युवाओं को 13,500 रुपये का मानदेय मिलेगा

0
85

जयपुर। मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने क्या ऐलान किया है कि अगर राज्य के गरीब युवाओं को 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री अधिक नहीं योजना शुरू करेंगे जिसमें युवा स्वाभिमानी योजना नाम रखा जाएगा. जिसमें देश के ग्रामीण इलाकों में गरीबों को रोजगार उपलब्ध कराने का काम किया जाएगा.

इस योजना में मनरेगा की योजना की तर्ज पर शहरी बेरोजगारों की योजना के लिए एक योजना शुरू की जाएगी और बताया जा रहा है कि यह अपने आप में देश की पहली योजना होगी जो बेरोजगार युवाओं को और युवतियों को साल में 100 दिन के रोजगार देने का काम करेगी.

इसके अलावा इस योजना में शामिल होने वाले लोग 21 से 30 वर्ष की आयु समूह के हैं वह शहरी नौजवानों को लाभान्वित होंगे इसके अलावा योजना में उन लोगों को शामिल किया जाएगा जिनके परिवार की वार्षिक आय ₹200000 से कम होगी.

इसके साथ-साथ यह भी बताया जा रहा है कि 900 दिन में ₹4000 महीने के हिसाब से कुल ₹13500 का मनो दे दिया जाएगा वहीं प्रदेश में डेढ़ लाख से अधिक नौजवानों को इस योजना में रजिस्टर्ड कराया गया है.

आपको बता दें कि इस वक्त देश में भारी बेरोजगारी है और रोजगार की समस्या से केंद्र की साथ साथ हर प्रदेश की सरकार को सोचना पड़ रहा है जिसके चलते पिछले साल हुए विधानसभा के चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने युवाओं को रोजगार और रोजगार भत्ता देने की बात मध्यप्रदेश और राजस्थान में कहीं थी जिसके बाद मध्य प्रदेश सरकार ने यह कदम लिया है वह मुख्यमंत्री कमलनाथ ने यह भी कहा कि मोतीलाल नेहरू स्टेडियम इस योजना के तहत युवा हितग्राहियों को 100 दिन रोजगार के प्रमाण पत्र भी वितरित किए जाएंगे.

इसके अलावा उन्होंने कहा कि प्रदेश के बेहतर भविष्य के लिए विकास का एक नया नक्शा तैयार करने की आज की जरूरत है और इसके लिए कृषि विकास के साथ-साथ नौजवानों को रोजगार देने का सुनिश्चित प्रयास करना होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here