आपके कान में कोई छेद तो समझ लिजिये कि आपके शरीर का पुरी विकास नहीं हुआ है

0
56

जयपुर।  हमारा शरीर बहुत ही अनाखे ढ़ंग से बनाया गया है। यह एक मशीन है कि तरह ही कार्य करता है। लेकीन इसका बनाने वाला वैज्ञनीक यानी की माँ के गर्भ में कोई कमी रह जाती है तो इस शरीर में कुछ चीज़े अधूरी रह जाता है। इसको चेक करने के लिए आपको हॉस्पिटल नहीं जाना पड़गा। बल्कि आप खुद ही चेक कर सकते हो। जैसे की कान का एक छेद जी हां आपने कभी गौर से अपना कान देखा है। उसमें एक छेद होगा यह छेद इतना छोटा होता है

कि आपको ध्यान से देखने पर भी नजर नहीं आयेगा। यदी आपके कान में छेद है तो समझ लिजिये की आपके शरीर में कोई ना कोई कमी जरूर रही होगी। और नहीं है तो  बधाई है आपका शरीर संपूर्ण है। आपको बता दे की कान के ऊपरी हिस्से में एक छोटा सा छेद नुमा निशान होता है इसे प्रीऑरीकुलर साइनस कहते हैं। ये अधिकतर लोगों में धीरे-धीरे गायब हो जाता है वैस ये कुछ लोगों के कानों में रह जाता है। ये कान के बाहरी हिस्से में दिखाई होता है।

आपको बता दे की एक शोध के मुताबिक ये बाएं कान के मुकाबले दाएं कान में अधिक पाए जाते हैं। ये इसलिए होते है की मां के पेट में जब भ्रूण का विकास सही तरीके से नहीं होता है तो यह छेद रह जाता है। अमरीका की लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के मुताबिक यह छेद त्वचा और मांस के ठीक से ना जुड़ने के कारण होता है। और शिकागो के जेनेटिक्स एंड एनाटॉमी विभाग के प्रोफेसर विंसेट जे लिंच कहते हैं

कि कान के उस हिस्से की संरचना मानव विकास के साथ बदली हो सकती है। लेकिन माना ये जाता है की कभी कभार भ्रूण में इसका सही विकास नहीं हो पाता है। यह दुनिया में एशिया और अफ्रीका के कुछ हिस्सों में लोगों के कानों में पाया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here