मुंबई सीएसटी ओवरब्रिज ढहने के मृतकों में 2 महिला नर्स शामिल है

0
62

जयपुर। मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस के पास ओवरब्रिज ढहने के पांच मृतकों में दो नर्सें थीं, जो अस्पताल जा रही थीं. जीटी अस्पताल में नर्सों ने कहा कि रंजना तांबे (40) और अपूर्वा प्रभु (35) जीटी अस्पताल में नर्स थीं और 2005 से काम कर रही थीं.

संयोग से, घायलों में से कई को जीटी अस्पताल ले जाया गया. रात की शिफ्ट के लिए जाने वाली दोनों नर्स डोंबिवली की थीं. रानाजा ताम्बे वार्ड 6 में नर्स थीं और अपूर्वा प्रभु ऑपरेशन थियेटर में नर्स थीं. प्रभु ने कहा कि उनके पति और दो बच्चों से बची हुई है.

जाहिद शिराज खान (32), भक्ति शिंदे (40) और तपेंद्र सिंह (35) अन्य लोग है,  जिनकी मौत हो गई है. मुंबई मिरर के मुताबिक, मलबे के नीचे कई लोगों के फंसे होने की आशंका है. मृतकों की पहचान 35 वर्षीय अपूर्वा प्रभु, 40 वर्षीय रंजना तांबे, 35 वर्षीय सारिका कुलकर्णी, 32 वर्षीय जाहिद खान और 35 वर्षीय सतेंद्र सिंह के रूप में की गई.

वहीं इस पुरे मामले को लेकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि उन्होंने उच्च स्तरीय जांच का आदेश दिया था. उन्होंने कहा की “पुल का एक संरचनात्मक ऑडिट पहले किया गया था और यह फिट पाया गया था. उसके बाद भी अगर ऐसी घटना हुई, तो यह ऑडिट पर सवाल उठाता है. पूछताछ की जाएगी. कड़ी कार्रवाई की जाएगी.”

दक्षिण मुंबई में व्यस्त दादाभाई नौरोज रोड पर एक स्कूल के लिए छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (CSMT) को जोड़ने वाले एक महत्वपूर्ण फुट ओवर ब्रिज (कंक्रीट) के कंक्रीट स्लैब के एक हिस्से के बाद कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई और 33 अन्य घायल हो गए. आपको   बता दे की ये हादसा गुरुवार को शाम करीब 7.35 बजे हुआ था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here