Tulsi vivah vidhi: घर में रहकर कैसे करें तुलसी विवाह, जानिए सरल विधि और नियम

0

हिंदू धर्म पंचांग के मुताबिक 26 नवंबर दिन गुरुवार को तुलसी विवाह का आयोजन किया जाएगा। तुलसी विवाह हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि के दिन किया जाता हैं साल में यह एकादशी तिथि 25 नवंबर को शुरू होगी और 26 नवंबर को समाप्त हो जाएगी। कई जगहों पर द्वादशी के दिन भी तुलसी विवाह किया जाता हैं तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं घर बैठे कैसे करें तुलसी विवाह, तो आइए जानते हैं।

जानिए तुलसी विवाह विधि—
तुलसी के पौधे के चारों ओर मंडप बनाएं। तुलसी के पौधे के ऊपर लाल चुनरी चढ़ाएं। तुलसी के पौधे को श्रृंगार की चीजें अर्पित करें। भगवान श्री गणेश की पूजा और शालिग्राम का विधिवत पूजन करें। भगवान शालिग्राम की मूर्ति का सिंहासन हाथ में लेकर तुलसी की सात परिक्रमा कराएं। आरती के बाद विवाह में गाए जाने वाले मंगलगीत के साथ विवाहोत्सव पूर्ण किया जाता हैं। उसके बाद सभी में प्रसाद बांटा जाता हैं।

वही तुलसी विवाह करने के बाद रोजाना नियम अनुसार तुलसी के पौधे के सामने दीपक जलाना चाहिए। ऐसा करने से घर परिवार में सुख शांति और समृद्धि का वास होता हैं घर में रह रहे लोगों की सेहत भी अच्छी बनी रहती हैं कार्य में मन लगा रहता हैं। आर्थिक स्थिति में भी सुधार होने लगता हैं तुलसी विवाह कराने से कन्या दान के बराबर पुण्य फल की प्राप्ति होती हैं। जानिए तुलसी विवाह मुहूर्त—
एकादशी तिथि प्रारंभ— 25 नवंबर, सुबह 2: 42 ​बजे से
एकादशी तिथि समाप्त— 26 नवंबर, सुबह 5:10 बजे तक
द्वादशी तिथि प्रारंभ— 26 नवंबर, सुबह 5 बजकर 10 मिनट से
द्वादशी तिथि समाप्त— 27 नवंबर, सुबह 7 बजकर 46 मिनट तक

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here