अमेरिका: ‘शटडाउन’ ने बढाई ट्रंप की चिंता, सरकारी विभागों पर तालाबंदी से बढेगी बेरोजगारी

0
69

पूरी दुनिया को शांति, सुरक्षा और एकता का संदेश देने वाले संयुक्त राज्य अमेरिका अब काफी बडा आर्थिक संकट मंडरा रहा है। अटकलें लगाई जा रही है कि दोनों अमेरिकी सदनों में आर्थिक विधेयक पारित ना होने से अमेरिका में जल्द ही शटडाउन की स्थित उत्पन्न हो गई है।

जानकारी के लिए बता दें कि, शटडाउन अमेरिका के सरकारी विभागों को बंद करने का संकेत देता है जिसका सीधा असर वहां काम करने वाले लाखों कर्मचारी पर पडेगा। माना जा रहा है कि अमेरिका में शटडाउन की स्थिति पैदा होने से लाखों लोगों को बिना वेतन के बेरोजगार होकर खाली बैठना पड़ेगा।

एक तरह से देखा जाए तो शटडाउन का सीधा असर अमेरिका की अर्थव्यवस्था पर पडेगा, खबरों की मानें तो यह पांच साल में दूसरी बार होगा जब अमेरिका दिवालिया होने की कगार पर खडा हो जाएगा। ये मुसीबत सरकारी खर्चों के लिए प्रस्तावित आर्थिक विधेयक पर सांसद की मंजूरी ना मिल पाने पर उत्पन्न हुई है। जिसके कारण सरकार को ‘शटडाउन’ करना पड़ा है।

जाहिर है कि, अमेरिका में एंटी डेफिशिएंसी एक्ट चल रहा है, जिसके अंतर्गत फंड की कमी होने पर संघीय एजेंसियों को अपना कार्य रोकना पड़ता है। हालंकि सरकार फंड की कमी को ध्यान में रखते हुए स्टॉप गैप डील लाती है, जिसे अमेरिका की प्रतिनिधि सभा और सीनेट, दोनों में पारित कराना बेहद आवश्यक होता है।

फिल्हाल, इस बिल को प्रतिनिधि सभा से तो मंजूरी मिल गई है लेकिन सीनेट में बिल पर चर्चा होने के कारण समय निकल गया और यह बिल बीच में ही अटक गया। राष्ट्रपति ट्रंप के ऑफिस द्वारा जारी बयान में डेमोक्रेक्ट्स सांसदों को इस समस्या का जिम्मेदार ठहराया गया है।

हालांकि अमेरिका के सामने ये समस्या पहली बार नहीं आई है, इससे पहले भी अक्टबूर 2013 में बराक ओबामा के राष्ट्रपति काल में भी लंबे समय तक संघीय एजेंसियों को बंद करना पड़ा था। इस दौरान करीब 8 लाख कर्मचारियों को बिना वेतन बेरोजगार होना पडा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here