Traveling Spot:आप रोमांच को बढ़ाने के लिए, धरती के इस सबसे निर्जन स्थान की सैर

0

जयपुर।हमारी पृथ्वी पर आर्कटिक महाद्वीप के अलावा कई ऐसे निर्जन प्रदेश है जिनके बारे में बेहद कम लोग जानते है।ऐसे में आज के इस लेख में हम आपकों एक ऐसे ही निर्जन स्थान की जानकारी दें रहें है जिससे वैज्ञानिकों ने हाल ही में खोजा है। शोधकर्ताओं ने पृथ्वी पर एक जलीय वातावरण पाया है जिसमें जीवन के किसी भी प्रकार की पूर्ण अनुपस्थिति है। नेचर इकोलॉजी एंड इवोल्यूशन नामक पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन से पता चला है कि इथियोपिया के डॉलोल भू-तापीय क्षेत्र के गर्म, खारे, हाइपरसाइड तालाबों में सूक्ष्म जीवों का कोई भी रूप अनुपस्थित था।

डॉलोल, इथियोपिया, धरती का निर्जन स्थान—
स्पैनिश फाउंडेशन फॉर साइंस एंड टेक्नोलॉजी के शोधकर्ताओं ने इस निर्जन स्थान की खोज करते हुए बताया है कि, डॉलोल का परिदृश्य नमक से भरे ज्वालामुखी क्रेटर पर फैला है, जो लगातार तीव्र न्यूट्रीशनल गतिविधि के बीच पानी के उबलने के साथ विषाक्त गैसों को जारी करता है। उन्होंने कहा कि यह सर्दियों में दैनिक तापमान के साथ 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहना इसे धरती पर सबसे अनोखी और निर्जन जगह बनाता है।

डॉलोल निर्जन स्थान की खास बातें—
शोधकर्ताओं ने इस स्थान को प्रारंभिक मंगल ग्रह के स्थलीय एनालॉग के रूप में भी प्रस्तावित किया गया था।शोधकर्ताओं ने इथियोपिया के इस रेगिस्तान क्षेत्र में एक प्रकार के आदिम नमक-प्रेम सूक्ष्मजीवों की बहुत विविधता पाई और हाइड्रोथर्मल साइट के चारों ओर खारे कैनियन, लेकिन हाइपरसिड और हाइपरसैलिन पूल में नहीं है और ना ही डॉलोल के ब्लैक व यलो झीलों में जो मैग्नीशियम में समृद्ध हैं।ऐसे में आप अपने रोमांच को बढ़ाने के लिए इथियोपियों में पाएं गए डॉलोल निर्जन स्थान की सैर सावधानी पूर्वक करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here