मुहब्बत में गद्दारी-ब्लैकमेलिंग की सजा ‘मौत’, पति सहित प्रेमिका गिरफ्तार

0

मुहब्बत मैली थी। लिहाजा छह महीने में प्यार और कत्ल सब हो लिया। हत्यारोपी प्रेमिका को पुलिस ने पति सहित गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। घटना देश की राजधानी दिल्ली के रोहिणी जिले के थाना कंझावला इलाके का है। आईएएनएस को यह जानकारी रोहिणी जिला डीसीपी शंखधर मिश्रा ने दी। डीसीपी एस. डी. मिश्रा के मुताबिक, “7 जनवरी को कराला में रहने वाले महेंद्र गौड़ ने पुलिस को एक शिकायत दी थी। जिसमें उसने कहा था कि उसका बेटा 4 जनवरी को घर से अपनी कैब (टैक्सी) लेकर निकला था। तब से उसका पता-ठिकाना नहीं मिल रहा है।”

अगले ही दिन यानि 8 जनवरी को कंझावला पुलिस को 100 फुटा रोड के पास मौजूद खाली पड़े प्लाट में एक शव मिल गया। शव की पहचान नहीं हो पा रही थी। लिहाजा पहचान कराने के लिए लावारिस शव पोस्टमॉर्टम हाउस में सुरक्षित रखवा दिया। बाद में शव की पहचान महेंद्र गौड़ ने बेटे अमर के रूप में कर दी। पहचान होते ही पुलिस की तफ्तीश ने तेजी पकड़ ली।

डीसीपी शंखधर मिश्रा के मुताबिक, “शव की पहचान होते ही मामला हत्या की धाराओं में दर्ज कर दिया गया। जांच के लिए एसएचओ इंस्पेक्टर राम अवतार, इंस्पेक्टर गिरीश गोटवाल, सहायक उप-निरीक्षक सुदेश कुमार, हवलदार मनोज कुमार, सिपाही नवनीत और सुरेश की टीम गठित कर दी गई।”

मरने वाले अमर के पास अंतिम समय में मौजूद उसका मोबाइल पुलिस टीम ने सर्विलांस पर लगा दिया। कड़ी से कड़ी जोड़ते हुए पुलिस उस नंबर तक जा पहुंची, जिससे कॉल आने के बाद से अमर की किसी और से बात नहीं हुई थी। उस मोबाइल नंबर की मदद से पुलिस ने बिहार निवासी दुनिया को पकड़ लिया। दुनिया से पूछताछ में कई सनसनीखेज बातें सामने आईं।

दुनिया की निशानदेही पर पुलिस ने उसकी पत्नी को भी गिरफ्तार कर लिया। पता चला कि, शादीशुदा अमर (मृतक) छह महीने पहले ही दुनिया की पत्नी के संपर्क में आया था। दोनों के बीच 6 महीने तक नाजायज संबंध रहे। नाजायज संबंध बनाने के लिए अमर ने किराये का एक कमरा ले लिया था। मौका पाकर एक दिन अमर ने दुनिया की पत्नी का अश्लील वीडियो बना लिया।

इसी वीडियो के बलबूते अमर, दुनिया की पत्नी को ब्लैकमेल करने लगा। अमर की ब्लैकमेलिंग से पीछा छूटता न देख, पत्नी ने दुनिया को पूरी बात बता दी। लिहाज पति-पत्नी ने अमर को रास्ते से हटाने का षडयंत्र रच डाला। षडयंत्र के तहत दुनिया ने अमर को फोन करके बुलाया।

प्रेमिका पर विश्वास करके अमर घटना वाले दिन घर से कैब लेकर निकल गया। उसके बाद वह सीधे दुनिया की पत्नी (अपनी प्रेमिका) के बुलाए स्थान पर जा पहुंचा। वहां प्रेमिका ने अमर को चाय में नशीली दवाई (नींद की गोलियां) पिला दीं। कुछ देर बाद जब अमर नशे में सो गया तो, उसकी प्रेमिका ने बाहर मौजूद पति को घर के अंदर बुला लिया। बाद में पति-पत्नी ने अमर की गला घोंटकर हत्या कर दी।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous article61 प्रतिशत लोग बच्चों की शिक्षा के लिए दिल्ली के सरकारी स्कूलों को देते हैं तरजीह : सर्वे
Next articleआज और कल दो दिन मनाई जाएगी बसंत पंचमी, जानिए कब है श्रेष्ठ
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here