B’Day Spcl: भारत का ऐसा गेंदबाज़ जो पोलिया से ग्रसित था पर फिर भी मैदान पर किया कमाल

0
43

जयपुर (स्पोर्ट्स डेस्क) बता दें की  कर्नाटक के एक खिलाडी़ का जन्म आज के दिन ही हुआ था जिसने अपनी कमजोरी को ताकत बनाकर मैदान पर कमाल किया। बता दें की कर्नाटक के मैसूर में 17 मई 1945 को जन्म भागवत सुब्रमण्यम चंद्रशेखर का दाहिना हाथ बचपन से ही पोलिया से ग्रसित होने के कारण कमजोर हो गया था।

 

मगर इस खिलाडी़ ने अपनी कमजोरी को ताकत बनाया। चंद्रशेखर ने अपने कमजोर का हाथ प्रयोग गेंदबाज़ी के लिए खूब किया। बता दें की सुभाष गुप्ते के बाद चंद्रशेखर, आजाद भारत के दूसरे ऐसे गेंदबाज़ थे जिनकी गेंदबाज़ी का लोहा सब मनाते हैं । यह खिलाडी़ ऐसा था जो अकेले ही अपनी टीम को मैच जिता दिया करता था। भारत के लिए गुप्ते और चंद्रशेखर दोनों ही स्पिन गेंदबाज़ रहे हैं लेकिन इनकी गेंदबाजी में जमी चंद्रशेखर ने अपना पहला इंटरनेशनल मुकाबला 1964 में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था । वहीं डेब्यू मुकाबले में ही चंद्रशेखर ने 4 विकेट चटका दिए। उस वक्त इंग्लिश बल्लेबाज़ों को लगा कि भारतीय पिचों पर गेंद ज्यादा घूमती है इसलिए चंद्रशेखर यहां सफल हुए । मगर इस गेंदबाज़ ने इग्लैंड में जाकर यही करिश्म दोहराया। 1971 में भारतीय टीम इंग्लैंड दौरे पर गई थीय़। यहां भारत को टेस्ट सीरीज खेलनी थी। एक मुकाबला ओवल में खेला गया। यहां चंद्रशेखर ने 38 रन देकर 6 इंग्लिश बल्लेबाज़ों को आउट किया । इस शानदार प्रदर्शन के दम पर पहली बार इंग्लैंड में कोई मैच जीता था। दाएं हाथ के लेग स्पिनर चंद्रशेखर ने करीब 15 साल तक टेस्ट क्रिकेट खेला। 246 मुकाबलों में उनके नाम 1063 रन दर्ज हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here