सफलता प्राप्त करने के लिए आपको छोड़नी होंगी ये बुरी आदतें…

0
214
success

सनातन धर्म में अच्छी—बुरी आदतों के बारे में सविस्तार वर्णन किया गया है। विशेषकर गुरूण पुराण में सदाचार और अच्छी आदतों के संबंध में बहुत सी बातें बताई गई हैं। अगर इन बातों पर आप भी अमल करते हैं तो आप को सफल होने से कोई रोक नहीं सकता है।

गुरूण वर्णित इन प्रमुख नीतियों का अनुसरण हम सब सुखी और समृद्ध तरीके से जीवन—यापन कर सकते हैं। गुरूण पुराण में कुछ बातें ऐसी भी बताई गई हैं जिनका अनुसरण करते ही व्यक्ति अपने जीवन में केवल असफलताएं ही प्राप्त करता जाता है।

आइए जानें आखिर वो कौन सी बातें हैं जिनसे हमें हमेशा दूर रहना चाहिए…
1— अगर सफल होना चाहते हैं तो किसी भी काम में पूरा ज्ञान प्राप्त करें। अन्यथा अधूरा ज्ञान व्यक्ति को कभी परेशानी में डाल सकता है।
2— इंसान को हमेशा कहीं ना कहीं से ज्ञान अर्जित करते रहना चाहिए। क्यों कि ज्ञानी व्यक्ति ही सही और बुरे व्यक्ति की पहचान कर सकता है।

3— अहंकारी व्यक्ति अपने जीवन में हमेशा असफल साबित होता है। यदि अहंकारी लोगों को किसी प्रकार सफलता मिल भी जाए तो वो स्थायी नहीं होती।
गरूण पुराण कहता है कि अहंकार ही व्यक्ति के पतन का सबसे बड़ा कारण है।
4— मोह भी व्यक्ति के पतन का सबसे बड़ा कारण माना गया है। मोह के चलते ही इंसान सही—गलत की पहचान करना भूल जाता है।

5— किसी कार्य में असफल होने पर क्रोध का उत्पन्न होना स्वाभाविक माना गया है। ऐसे में क्रोध पर काबू पाने वाला व्यक्ति ही जीवन में सफलता की सीढ़ियां चढ़ता है। जो लोग विपरीत परिस्थितियों में क्रोध पर नियंत्रण नहीं रख पाते उनका असफल होना निश्चित है।
6— असुरक्षा की भावना घर कर जाने पर कोई भी कार्य एकाग्रचित होकर नहीं किया जा सकता है। ऐसे में हर समय खुद को असुरक्षित और सुरक्षित करते रहने के बारे में ही ना सोचते रहें।

अध्यात्म से जुड़ी खबरों की लेटेस्ट जानकारी पाएं

हमारे FB पेज पे. अभी LIKE करें – समाचारनामा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here