जीवन के वह 3 मूल मंत्र जो निखारते हैं आपका व्यक्तित्व और बनाते हैं आपको सफल

हर कोई व्यक्ति आज जिंदगी की भाग दौड़ में लगा हुआ है हर कोई बस यही ही कहता है की वह कैसे भी कर खुद को साबित कर दे सफल हो जाए

0
52

जयपुर । हर कोई व्यक्ति आज जिंदगी की भाग दौड़ में लगा हुआ है हर कोई बस यही ही कहता है की वह कैसे भी कर खुद को साबित कर दे सफल हो जाए और उसके घर परिवार की हर जरूरत पूरी हो जाये आज कल के युवाओं में यह चीज़ देखी जा रही है की वह किसी की ना तो सुनते हैं ना ही वह अपनी नोकरी और पर्सनलिटी को ले कर सजग होते हैं । हमारे जीवन में यदि कोई ऐसे चीज़ है जो की हमको सफलता दिलाती है लोगों की नज़र में उठती है तो वह होती है कड़ी मेहनत और हमारे व्यक्तित्व की छवि जिसको हम पर्स्नालिटी भी कहते हैं ।

आज हम दिनों दिन काम की भाग दौड़ में इतने व्यस्त हो जाते हैं की हम खुद पर जरा भी ध्यान नही देते हैं और खास कर इसके चलते हम हमारे उठने – बैठने , बोल चाल की भाषा , कम करने के तरीकों और सोच को बहुत ज्यादा बादल देते हैं शरीर ढीला ढीला रहता है , स्वभाव बहुत चिड़चिड़ा हो जाता है , गुस्सा बाहर जाता है और हम किसी भी बदलाव को समझ पाने और अपनाने से भी नकारने लगते हैं जो की हमको सफलता से दूर कर देता है । इन सभी चीजों को पीछे छोड़ कैसे खुद के व्यक्तिव को निखार कर खुद को प्रदर्शंकारी बना कर सफलता के नए आयाम को हासिल किया जा सकता है इस बारे में जानते हैं ।

सकारात्मक रखें सोच को :- जब भी आप काम के लिए निकालें तो कभी भी अपने काम को नही कोसें उसको आनंद के साथ खुशी के साथ पूरा करने की ही आदत डालें , कभी भी काम को बोझ समझ कर ना करें । कम को ले कर हमेशा ऑफिस को लेकर और जीवन के बारे में सोच हमेशा सकारात्मक रखें ।

बॉडी पोशचर भी है जरूरी :- ढीला ढीला बदन आपको खुद में ही अवसाद और निराशा से भर देता है और काम ही नही जीवन, परिवार के प्रति भी आपको उबाऊ बना देता है यदि आप इस तरह से रहते हैं तो यह आपकी छवि आपके व्यक्तित्व पर भी बहुत बुरा प्रभाव डालता है जो की आपको सफलता से दूर कर देता है इस तरह से रहना लोगों पर आपके प्रति नकारात्मक प्रभाव डालता है और आपका आत्मविश्वास भी खो जाता है । इसलिए हमेश खुद को फिट रखें और थोड़ा तन कर ही रहिए खड़े होना हो या बैठना , बोल्न , बैठना , बात करना सभी में थोड़ा सा एनर्जी हमेशा बना कर रखिए आप चाहें तो इसके लिए पर्सनलिटी डेवलेपमेंट क्लासेस और एप्लीकेशन की भी सहायता ले सकते हैं ।

हर हाल में कामयाब होने की सोच और स्पष्ट सोच को कायम रखना बहुत ज्यादा है जरूरी :-

आप जो भी काम करते हैं और जिस भी जगह काम करते वहाँ ही नही निजी जिंदगी में भी ज़िम्मेदारी भरा काम उसी को सौपा जाता है जो की अपने आप को ले कर अपनी सोच को ले कर स्पष्ट होता है , कोई भी व्यक्ति और कंपनी तभी किसी को मुश्किल काम सौंपती है जब उनको यह पता होता है कि यह मुश्किल हालातों से निकलने की काबिलयत रखता है की उस व्यक्ति के पास समाधान को खोज लेने की क्षमता है वह यह काम किसी भी हालत में पूरा कर सकने की हिम्मत और काला रखता है इसलिए अपने अंदर लीडर शिप क्वालिटी को विकसित जरूर करें ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here