ये तकनीक से काफी आसानी से बनायेगी कृत्रिम हाथ. जानिये इसके बारे में

0
89

जयपुर। वैज्ञानिकों ने कृत्रिम कलाइयां और हाथ बनाने की हाल ही में एक नई तकनीक विकसित की है जो बहुत ही खास है। आपको जानकारी दे दे कि इस हाथ मरीज काफी आसानी से उपयोग में ले पाएंगे। आपको जानकारी दे दे कि अमेरिका की नॉर्थ कैरोलिना स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने इस स्पेशल हाथ को डिजाइन किया है इसी के साथ ये तकनीक कम्प्यूटर आधारित है। इस तकनीके के जरीये हमारी बाहों,

कलाइयों और हाथों की प्राकृतिक संरचना के आधार पर कम्प्यूटर के जरिए कृत्रिम भुजा तैयार की जाती है। इसके बारे में जानकारी दे दे कि सीएनसी नामक यह तकनीक आमतौर पर गेमिंग और कम्प्यूटर की सहायता से बनने वाले डिजाइन (कैड) जैसे अनुप्रयोगों में काम में ली जाती है। शायद आपको इसकी खबर नहीं होगी कि इस एप्लीकेशन में कम्प्यूटर इंटरफेस उपकरणों के द्वारा कृत्रिम अंगों की प्रतिकृति तैयार की जाती है जिससे की कृत्रिम हाथ बनके तैयार किया जा रहा है। जैसा की आपको पता है कि कृत्रिम अंगों की बनावट मशीन के कोड पर निर्भर करती है

इसमें जिस तरह की कोडिंग की जाती है, मशीन वैसे ही अंग बना देती हैं लेकिन आपको इसके बारे में बता दे कि इस पद्धति में काफी जटिलाएं छुपी हुई हैं। तो इस तरह के कृत्रिम अंगों को हमारे शरीर की मांसपेशियों के अनुरूप गतिविधि करने के लिए इसके ट्रेंन किया जायेंगा। इसी के साथ आपको जानकारी दे दे कि इन कोड्स को कृत्रिम हाथ के भीतर प्रोग्रामिंग करके इन्हें स्मार्ट बनाना होगा जिससे की ये हमारे शरीर के साथ मिलकर काम करे सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here