आज बंसत पंचमी के दिन बनाऐं यह खास मिटाई, स्वास्थ्य के लिए चावल से बनी मिटाई लाभकारी

0

जयपुर।बसंत ऋतु में आने वाला बसंत पंचमी का दिन भारतीय मान्यता के अनुसार एक प्रसिद्ध त्यौहार है और इस दिन बुद्धि, विद्या और ज्ञान देने वाली देवी मां सरस्वती की पूजा की जाती है।जिससे इस दिन की शोभा और बढ़ जाती है।बसंत पंचमी का त्योहार पीले रंग के रूप में मनाया जाता है और इस दिन मां सरस्वती की पूजा करने के साथ ही पीले रंगो के पकवान बनकर उनकी पूजा की जाती है।

चावल हमारे शरीर के लिए कई प्रकार से लाभकरी होता है और इससे बनी मिटाई खाने से हमे कई प्रकार की बीमारिया नही होती है।चावल से बना केसरी चावल भी हमें रोगाणुमुक्त करता है। बसंत पंचमी के दिन भोग के साथ परिवार के लिए भी पीले रंग की मिठाई बनाई जाती है।

इस दिन विशेषत: केसर युक्त पीले चावल हर घर में बनाये जाते है। इन्हें स्वादिष्ट चावलों को पीले मीठे केसरी भात के नाम से भी जाना जाता है।आज हम आपको चावल ही मीठे केसरी भात बनाने के बारे में विधि बतायेंगे।—सबसे पहले चावल को धोकर आधे घंटे के लिए भिगो कर रखे और फिर केसर में दूध मिलकर रख दें व इसमें पीला रंग भी मिला दें।

इलायची, काजू और बादाम को काट ले।चावल को पानी डालकर उबाले और पकने के बाद छानकर कुछ देर रखे।इसके बाद काजू को गुलाबी होने तक फ्राई करे। एक भारी तले वाले बर्तन में घी डालकर गर्म करते हुए इसमें लौंग व इलायची को भूने और इसमें चावल व शक्कर भी डाल दें।

केसर और रंग का मिश्रण भी इसमें मिला दें।फिर इसमें पिसी हुई काजू— बादाम और इलायची डाल दे।अब आप इसे सर्व कर स​कते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here