ब्लैक होल से सुरक्षित बाहर निकलने का तकनीक जानते थे यह मशहूर खगोलशास्त्री

0
84

परलोक सिधार चुके विख्यात वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग ने गत वर्ष ही ब्लैक होल के बारे में एक नई जानकारी पूरी दुनिया को हैरान कर दिया था। स्टीफन ने बताया कि ब्लैक होल के भीतर से बचकर निकलना संभव हो सकता है। हालांकि अब तक की वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार ब्लैक होल से बचना नामुमकिन होता है। ब्लैक होल एक ऐसी खगो​लीय चीज है जिसका गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र इतना शक्तिशाली होता है कि प्रकाश भी इसके खिंचाव से नहीं बच सकता है।

लेकिन स्टीफन हॉकिंग ने अपने नए शोध में बताया था कि ब्लैक होल से निकल पाना संभव हो सकता है। पिछले साल ही हॉकिंग का यह शोध पत्र फिजिकल रिव्यू लेटर्स में प्रकाशित हुआ था। स्टीफन ने कहा था कि ब्लैक होल से बचना अब संभव हो पाएगा। अगर आपको लगता है कि आप एक ब्लैक होल में फंस गए हैं तो हार मत मानिए। वहां से बच निकलने के भी कई रास्ते होते हैं। हाकिंग के इस बयान ने ब्लैकहोल की परिभाषा ही बदलकर रख दी। अब इस बात का भी पता लगाया जा सकेगा कि ​ब्लैकहोल द्वारा निगल ली गईं व​स्तुओं और जानकारियों का आखिर क्या हश्र होता है?

इस शोध से पहले हॉकिंग भी यही मानते थे कि ब्लैकहोल में समा गई सारी जानकारी अंतरिक्ष की अनंत गहराई में कहीं खो जाती हैं। लेकिन अपने नए शोध में वो बताते है कि ब्लैक होल के भीतर समा गई जानकारियों के बारे में फिर से पता लगना संभव है। अब तक की मान्यता के अनुसार वैज्ञानिक यही मानते आए है कि ब्लैक होल सपाट होते हैं।

जबकि हॉकिंग के नए शोध से मुताबिक ब्लैक होल असल में मुलायम बालों सरीखे अभामंडल से घिरे होते हैं। ये नर्म रोएं उन सभी चीजों की जानकारी सहेजकर रखते हैं जो ब्लैकहोल में समा जाती हैं। हालांकि हॉकिंग के इस दावे का यह मतलब बिल्कुल भी नहीं है कि आप ब्लैकहोल में गोता लगाएं और दूसरी तरफ से सुरक्षित जीवित बच कर निकल जाएं। इसका मतलब यह है कि आपके श​रीर के बजाय आपकी जानकारी वहां सु​रक्षित रह पाएगी। जिसका धीरे-धीरे रिसाव मुमकिन हो पाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here