भारतीय राजनीति का सबसे बड़ा किंगमेकर, जिसने नेहरु जैसे राजनेता को कई बार दिलवाई थी सत्ता

0
304
indian-politician

भारतीय राजनीति में कई चेहरे ऐसे हुए जिन्होंने अपनी ऊर्जा भारतीय  राजनीति को समृद्ध बनाए जाने में लगा दी। वैसे तो भारतीय राजनीति ने कई उतार चढ़ाव देखे हैं, सत्ता का आने जाने खेल चलता रहता है, पर कुछ ऐसे राजनेता होते हैं जो अपनी अलग शैली के लिए हमेशा याद किए जाते हैं। भारतीय राजनीति के ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने भारतीय राजनीति में किंगमेकर की भूमिका निभाई है।

ये भी पढ़ें : मंगल ग्रह का ये रहस्य पहली बार हुआ था उजागर, जानकर पूरी दुनिया चौंक गई थी

मुफ्त शिक्षा और मध्याह्न भोजन जैसी जन योजना की  शुुरुआत करने वाले नेता के. कामराज का जन्म आज 114 वां जन्मदिन है इनका जन्म 15 जुलाई 1903 को हुआ था । पर आज इन योजना की शुरुआत तमाम सरकार करती हैं, पर के. कामराज को शुरुआत करने का श्रेय दिया जाता है।

Indian-Leader-K- Kamaraj

ये भी पढ़ें : एक नहीं तीन अलग अलग जगह था खौफनाक मंजर, उजड़ गई थीं कई जिंदगियां

के. कामराज जवाहर लाल नेहरु के बेहद करीबी माने जाते थे, और कांग्रेस की पार्टी में उनका महत्वपूर्ण स्थान है। इन्होंने पडिंत नेहरु का दो बार प्रधानमंत्री बनाए जाने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है ।

K.-Kamaraj

के. कामराज तमिलनाडु के मुख्यमंत्री और कांग्रेस का अध्यक्ष के रुप में रहे हैं । के. कामराज का असली नाम कामाक्षी कुमारस्वामी नादेर था, और उन्होंने जब 15 साल का आयु में जलियाबाग बाग वाले कांड के बारे में सुना और तभी से गांधी के ऱास्ते पर चलने का फैसला लिया ।

kamraj-and-nehru

ये भी पढ़े : एक ऐसा खलनायक जिसे देख थियेटर में बैठी महिलाएं भी कांप जाती थीं, अमिताभ बच्चन से भी ज्यादा फीस लेता था ये कलाकार

और बाद के वर्षों में ये कांग्रेस शामिल हो गए, अपने जीवन में 6 बार जेल गए और करीब 3000 दिन वहां रहे। और 1954 के करीब ये मद्रास के  मुख्यमंत्री बने , और 1963 में नेहरु की सलाह पर उन्होंने पद त्यागा, उनके साथ करीब 6 मुख्यमंत्री ने भी इस्तीफा दिया, और इसे के. कामराज योजना का नाम दिया गया ।

 आज क्यों खास की लेटेस्ट जानकारी पाएं हमारे FB पेज पे. अभी LIKE करें – समाचार नामा 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here