टीम इंडिया में ना चुने जाने को लेकर इस दिग्गज ने चयनकर्ताओं पर लगाए गंभीर आरोप

0

जयपुर स्पोर्ट्स डेस्क। कोरोना वायरस के चलते मौजूदा समय में क्रिकेट ठप्पा पड़ा है और कहीं कोई मैच नहीं खेला जा रहा है। टीम इंडिया के ज्यादातर खिलाड़ी घर पर हैं । पर इन सब के बीच तेज गेंदबाज़ उमेश यादव चर्चा में आ गए हैं । दरअसल उन्होंने भारतीय चयनकर्ताओं पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

कोरोना का कहर: आईपीएल 2020 होगा या नहीं ? अब लीग को लेकर आई ये अपडेट

एक समाचार पत्र से बात करते हुए उमेश यादव ने  बताया कि वह  राष्ट्रीय टीम में अंदर बाहर की स्थिति को वो कैसे संभालते हैं । उमेश ने बताया है कि थोड़ा बुरा लगता है कि आपको अधिक मौके नहीं मिलते हैं । मगर अहम यह है कि आप खुद को स्थिति में समझाएँ। भारतीय टीम की सीमित प्रारूप टीम से लंबे वक्त से बाहर चल रहे उमेश यादव ने कहा कि इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह बढ़िया प्रदर्शन कर रहे हैं और आप अधिक शिकायत नहीं कर सकते ।

कोरोना वायरस की वजह से अब मुश्किल में पड़ सकता है टीम इंडिया का ऑस्ट्रेलिया दौरा

इसलिए वह समझ सकते हैं कि टीम प्रबंधन के लिए सही संतुलन बनाना आसान नहीं होगा । उन्होंने कहा कि आप घरेलू जमीं पर अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो आप पर एक छाप लग जाती है जैसे उन पर लगी हुई है ये थोड़ा अनुचित है। उन्होंने साथ ही कहा कि उन्हें भी विदेशी जमीं पर नियमित रूप से मौके मिले तो वह भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे उन्हें मुश्किल से एक या दो मैच मिल पाते हैं।

टीम इंडिया के ये चार फिनिशर विरोधी टीम पर रहे हैं हमेशा भारी

यही नहीं तेज गेंदबाज़ सीमित प्रारूप में मौका ना मिलने से निराश है। उमेश ने कहा कि उन्हें लाल और सफेद गेंद समझ नहीं आती है । किसी गेंदबाज़ की काबिलियत तो गेंद को स्विंग कारने में है और वो यह कर सकते हैं और पहले भी ऐसा किया है । इसके आगे उन्होंने यह भी कहा कि एक वनडे सीरीज खेलने का मौका मिलता है तो उन्‍हें लगता है कि वो खुद को विकेट लेने वाले गेंदबाज के रूप में साबित कर सकते हैं। गौरतलब है कि उमेश यादव वनडे टीम से लंबे वक्त से बाहर चल रहे हैं। और इसलिए उनका सवाल उठाना स्वभाविक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here