डायनासोर के जमाने का ये पौधा, है औषधीय गुणों से भरपूर

0
87

जयपुर। डायनासोर को आज तक हमने इन्हे फिल्मों में ही देखते आये हैं। हम फिल्मों देखकर ही उनसे डर जाते है,तो सोचो अगर हमारे सामने आ जाये तो क्या होगा। हाल ही में वैज्ञानिकों ने डायनासोर के काल से संबंधित ऐसी चीजों की खोज की है जिनसे वो खतरनाक और स्वस्थ रह पाता था।

इस शोध को उतराखंड वानिकी शोध शाखा रानीखेत के वैज्ञानिकों ने किया है। शोध एक पेड़ पर किया गया है। इस पौधे के बारे में बताया गया है कि यह लगभग 270 मिलियन साल पुराने है, जो कि डायनासोर से जुड़े हुए माने जा रहे है। वैज्ञानिक इस पौधे के बारे में बताते है ये पौधा औ​षधीय गुणों से भरपूर है।

इस पौधे के बारे में कहा जा रहा है कि इससे कई तरह की औषधीय दवाई बनाने में सहायक हो सकता है। इस पौधे की प्रजाति की क्लोन उगाने में वैज्ञानिकों को सफलता मिल चुकि है।

ऐसे में इसकी क्लोनिंग करके भरपूर फायदा उठाया जा सकता है। अभी तक नर्सर में इसकी क्लोनिंग के जरिए जिंको बायलोवा के 151 पौधे तैयार किये गए है। जिंदा जीवाश्म कहे जाने वाले इन पौधों की हाल ही की उंचाई 2 मीटर बताई जा रही है।

जब इस पौधे पर रिसर्च किया गया तो पाया कि इससे दमा, एलर्जी,अल्जाइमर्स,नपुसंकता आदि का इलाज संभव है। कहा जाता है कि भारत से भी पहले से चीन इसका पारंपरिक दवाईयों के उपयोग में प्रयोग कर चुका है। ​चीन इसकी पत्तियों का निर्यात भी करता है। लेकिन हाल ही में भारत में भी इन पौधों को विकसित किया जा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here