दिग्विजय सिंह की जीत का दावा करने वाले बाबा ने समाधि लेने के लिए कलेक्टर से इजाजत मांगी

0
70

जयपुर। हाल ही में लोकसभा चुनावों के नतीजों के बाद भोपाल की लोकसभा सीट से दिग्विजय सिंह के चुनाव हारने और साध्वी प्रज्ञा के चुनाव जीतने के बाद एक बाबा मीडिया में सुर्खियां बटोर रहे थे जिसमें उन्होंने कहा था कि वह दिग्विजय सिंह की जीत के लिए यज्ञ करेंगे और अगर वह आ गए तो उसमें भस्म हो जाएंगे उसी को लेकर एक बार फिर चर्चा है बताया जा रहा है कि लोकसभा सीट से जिताने का झूठा दावा करने वाले बाबा वैरागी गिरी महाराज ने समाधि लेने का फैसला किया है.

हमारी जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि उन्होंने इसके लिए भोपाल की कलेक्टर को पत्र लिखकर उनसे अनुमति भी मांगी है. वहीं आप बता दें कि इस मामले को लेकर भोपाल के कलेक्टर तरुण कुमार पिथोड़े ने इसकी अनुमति देने से इंकार कर दिया और पुलिस को बाबा के जानमाल की सुरक्षा करने के लिए आदेश भी जारी कर दिए हैं.

इसके अलावा आपको बता दें कि मीडिया में आई खबरों के मुताबिक भोपाल में स्थानीय अधिवक्ता माजिद अली ने शुक्रवार को बताया कि बाबा वैराग्य नंद गिरी महाराज ने 13 जून को भोपाल कलेक्टर को 1 आवेदन दिया था जिसमें उन्होंने कलेक्टर से यह मांग करी थी कि 16 जून को उन्हें ब्रह्म का लिंग समाधि लेने की स्वीकृति दी जाए और इसके लिए जगह भी बताइए ताकि भ्रम कालीन समाधि के दौरान बाबा की शांति में किसी भी प्रकार से कोई ना हो.

आपको बता दें कि मस्जिद के मुताबिक इस आवेदन में बाबा बैरागी नंदी ने लिखा था कि उन्होंने लोकसभा चुनावों के दौरान भोपाल से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी दिग्विजय सिंह की जीत की कामना करी थी और इसी के लिए यज्ञ भवन संकल्प भी लिया था और यदि दिग्विजय सिंह को चुनाव में पराजय का सामना करना पड़ा है तो खून में ही कालीन में समाधि ले लेंगे उन्होंने कहा था और उन्हें लेनी है.

आपको बता दे कि बाबा द्वारा दिए गए इस आवेदन पर अधिवक्ता माजिद अली ने हस्ताक्षर किए हैं और अली ने बताया कि उन्हें बाबा वैराग्य नंदी ने इस आवेदन पर हस्ताक्षर करने के लिए अधिकृत किया है और अली भोपाल जिले न्यायालय में एक वकील के तौर पर काम करते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here