आभानेरी चांद बावड़ी से जुडी ये खास बातें, है यह दुनिया का सबसे गहरा सीढ़िनुमा कुँआ

0
930

जयपुर। वैसे दुनिया में आपने कई सीढ़िनुमा कुएं देखे होगें लेकिन इस तरह के कुऑं शायद ही आपने कहीं देखा होगा। आपको बता दें कि यह जगह राजस्थान में स्थित है जो आभानेरी चांद बावड़ी के नाम से जानी जाती है। आपको बता दें कि इसका इतिहास 9वीं सदी से जुड़ा हुआ है।

आपको बता दें कि इस बावड़ी का निर्माण राजा मिहिर भोज ने किया था। जिसके बाद इसी के नाम पर उन्हीं के नाम पर इस बावड़ी का नाम चांद बावड़ी रखा गया।

यह बावड़ी चारों ओर से लगभग 35 मीटर चौड़ी है और ऊपर से नीचे तक पक्की सीढ़ियां बनी हुई है। 13 मंजिला यह बावडी 100 फीट से भी ज्यादा गहरी है।

भूलभुलैया के रूप में बने इस कुएं में लगभग 3500 सीढियां बनी हुई हैं। इस बावड़ी के बारे में ऐसा कहा जाता है कि इसे भूत-प्रेतों द्वारा किया गया और इसे इतना गहरा इसलिए बनाया गया।

इसके अलावा नगर सागर कुंड में दो जुड़वां सीढ़ीदार कुंए बने हुए हैं जो चौहान दरवाजे के बाहर बने हुए हैं। जिसका निमार्ण सूखे के दौरान पानी के लिए कराया गया।

यह जगह दिल्ली के पास स्थित है जिस वजह से यहॉं घूमने के पर्यटक आते है।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here