युवाओं को बना रही है शिकार ये बीमारियाँ बहुत तेज़ी से लाइफस्टायल है जिम्मेदार

आजकल युवाओं का जीवन जीने का तरीका बहुत ही ज्यादा बिगड़ गया है । ना खाने पीने की सुध है ना सोने की ,ना जागने का पता अहि आ काम करने के तरीके का पता है ।

0
79
सॉस लेने मे तकलीफ अगर आपको भी ऐसी कोई बीमारी है तो आपको अपनी स्लीपिंग पोजीशन का काफी ध्यान रखना होता है आपको पीट के बल सोना चाहिए ताकि आपको सॉस आसानी से आ सके

 

जयपुर । आजकल युवाओं का जीवन जीने का तरीका बहुत ही ज्यादा बिगड़ गया है । ना खाने पीने की सुध है ना सोने की ,ना जागने का पता अहि आ काम करने के तरीके का पता है । रात को 3 बजे सोते हैं और सुबह में 8 बजे उठते हैं । कम को लेकर जब बेत्यहते हैं तो यह नहीं पता होता है की कितने घंटों से एक ही जगह पर बैठे हैं । ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं की यह जीवन जीने का तरीका युवाओं के लिए कितना घातक बनता जा रहा है ।

युवा जिस तरह की बीमारी का शिकार हो रहे हैं । यह बीमारियाँ किसी प्रकार का संक्रामण नहीं बल्कि लाइफस्टायल से जुड़ी हुई है जो युवा वर्गको हो रही है । खानपान के बिगड़ जाने का असर कह लीजिये या हमारे रोजाना के नियम का इसका सीधा असर हमारी सेहत पर ही पड़ता है । ऐसे में सबसे ज्यादा जो परेशानी हो रही है वह आज लोगों को दिल की बीमारी और कैंसर की हो रही है ।

इसके साथ ही नॉन क्रोनिकल डीजीज यानि गैर  संक्रामक बीमारियाँ भी युवाओं में बहुत ज्यादा परेशानी का कारण बना रहा है । जैसे की डायबिटीज़ , माइग्रेन , स्पोन्द्लाइटिस , हृदया घात , हाई बीपी और भी कई बीमारियाँ है जो युवा वर्ग बहुत ही कम उम्र में झेल रहा है ।

क्या है इन बीमारियों से बचने का तरीका ?

  • तंबाकू का सेवन करने से बचें।
  • अपने वजन को नियंत्रित रखें।
  • हेल्दी डाइट फॉलो करें।
  • अधिक टीवी देखने से बचें।
  • धूम्रपान और ज्यादा शराब पीने से बचें।
  • समय-समय पर अपनी जांच करवाते रहें।
  • नींद पर्याप्त लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here