करना चाहते हैं भगवान् शिव के दर्शन तो जाने इन ख़ास ज्योतिर्लिंगों के बारे में

0
242

जयपुर| हिन्दू मान्यताओं के अनुसार भगवान् शिव जिन जिन स्थानों पर खुद प्रकट हुए हैं उन स्थानों पर बने शिवलिंग को ज्योतिर्लिंग के नाम से जाना जाता है| यह भी हिन्दू धर्म की उन मान्यताओं में से एक है जो लोगों को उनकी भक्ति में संतुष्टि प्रदान करती है| ये ज्योतिर्लिंग एक ही नहीं बल्कि 12 हैं और 12 अलग अलग जगहों पर स्थापित हैं| आज आपको बताते हैं इनमे से 6 ख़ास ज्योतिर्लिंगों के बारे में|

1-सोमनाथ ज्योतिर्लिंग: ये ज्योतिर्लिंग पूरी पृथ्वी का सबसे पहला ज्योतिर्लिंग माना जाता है और ऐसा भी कहा जाता है की इसकी स्थापना स्वयं चंद्रदेव ने की थी| विदेशों के आक्रमण से ये ज्योतिर्लिंग 17 बार टूट और बन चूका है| यह गुजरात राज्य के सौराष्ट्र क्षेत्र में स्थित है| इस ज्योतिर्लिंग से लोगों की कई मान्यताएं जुडी हुयी है|

2-मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग: इस ज्योतिर्लिंग की स्थापना आंध्र प्रदेश के कृष्णा नदी के तट पर श्रीशैलम नाम के पर्वत पर की गयी है| लोगों की ऐसी मान्यता है कि इस ज्योतिर्लिंग के दर्शन मात्र से जीवन भर के पापों से छुटकारा मिल जाता है| यहाँ पर शिवरात्रि और सावन के दौरान भारी मात्रा में शिवभक्तों की भीड़ उमड़ पड़ती है और लोग काले कपड़ों में आकर यहाँ भगवान् शिव की आराधना करते हैं और शिव के नाम का जाप करते हैं|

3-महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग: यह ज्योतिर्लिंग सबसे प्रसिद्द ज्योतिर्लिंगों में से एक है| महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मध्य प्रदेश के उज्जैन नामक स्थान पर स्थित है| उज्जैन के महाकलेश्वर में की जाने वाली भस्म आरती विश्व भर में प्रसिद्द है और यह आरती भोर में 4 बजे की जाती है जिसे देखने के लिए दूर दूर से लोग आते हैं|

4-ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग: यह ज्योतिर्लिंग मध्य प्रदेश के इंदौर नामक शहर के नज़दीक स्थित है| इस ज्योतिर्लिंग की ख़ास बात यह है की ये जहाँ पर स्थित है उसके चारों और नर्मदा नदी बहती है जिसमे ॐ का आकार बनता है जो कि हिन्दू धर्म के लोगों के लिए पूजनीय है|

5- केदारेश्वर ज्योतिर्लिंग: यह ज्योतिर्लिंग केदारनाथ नामक स्थान पर स्थित है| इस ज्योतिर्लिंग के साथ साथ इस जगह का भी बहुत महत्व है क्यूंकि हिन्दू मान्यताओं के अनुसार यह स्थान भगवान् शिव को बहुत प्रिय है और इसी कारण हर साल केदारनाथ धाम खुलने पर लाखों की संख्या में लोग यहाँ दर्शन के लिए आते हैं|

6-भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग: यह ज्योतिर्लिंग महाराष्ट्र के पुणे नाम के स्थान पर सह्याद्रि पर्वत पर स्थापित है| इस ज्योतिर्लिंग के लिए ऐसी मान्यताएं हैं कि यहाँ आकर सुबह सूरज निकलने के बाद भगवान् शिव की आराधना करने से 7 जन्मों के पापों से मुक्ति मिल जाती है|

अगर आप भी है एक बड़े शिव भक्त और भगवान् शिव की भरपूर आराधना करना चाहते हैं तो आप भी सभी जगहों पर जाकर आपने मन को संतुष्टि प्रदान कर सकते हैं|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here