झूठ से कोई बुरी चीज़ नहीं इसके सहारे से मिलती है ये नोखि चीज़े, जानियें

0
86

जयपुर। आप कभी न कभी  झूठ जरूर बोला होगा और हर इंसान झूठ बोलता है। लेकिन झूठ बोलना भी कोई आसान काम नहीं होता है। आपको खुद पर भरोसा होगा तभी सामने वाले को आप पर भरोसा होगा। झूठ बोलते समय चेहरे पर पसीना न आने दें और अगर आ भी जाए तो उसे रुमाल से पोंछने की गलती कभी न करें। आपको बता दे कि झूठ बोलना आपको आत्मविश्वास भी देता है।

झूठ बोलने के तरीकों मे साइंस रीसर्च बताती हैं कि हमेशा अपने झूठ याद रखें क्योंकि भुल जानके के कारण से हमेशा गड़बड़ हो जाती है। झूठ याद रखे तभी लंबा खींचें सकेंगे। लोगों को लगता है कि झूठ का अर्थ फेंकना होता है यह गलत है। आप इस से ऐसे झूठ ही बोलें जो किसी का बुरा न करें और साथ ही झूठ बोलें तो सच्चे व्यक्ति जैसा व्यवहार करें। शायद आपको पता नहीं है कि सच की तरह झूठ के लिए भी भरोसा बेहद जरुरी होता है। झूठ से आपकी याददाश्त भी इनक्रिज़ होती है।

किसी भी प्रकार का झूठ बोलने के लिए हर बार झूठ बोलने और उस झूठ का उपयोग करने के लिए सक्रिय रूप से काम करना पड़ता है। झूठ बोलना आसान माना जाता है लेकिन सच में कहे तो यह कोई आसान काम नहीं है सच्चे होने का नाटक यूँ ही नहीं होता है इसे करना थोड़ा और मुश्किल है। इस बात को हम मानते है कि ईमानदार लोग जिम्मेदार होते हैं इसी कारण से वो हमेशा हर काम बहुत ही सफाई से करते है। अगर आप प्रभावी तरीके से झूठ बोलने जा रहे हैं तो आप एक ईमानदार व्यक्ति की तरह बरताव करने की आवश्यकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here