समुद्री दुनिया के बारे में जानने के लिए बनाई जा रही है दूनिया की सबसे बडी अंडर वाटर लैब

0

‌ जयपुर। जैसे अंतरिक्ष की दुनिया की जानकारी करने के लिए वैज्ञानिकों ने इंटरनेशनल स्पेस सेंटर बना रखा है उसी प्रकार वैज्ञानिक अब समुद्री दुनिया के बारे में विस्तार से जानने के लिए समुद्र के अंदर अंडर वाटर लैब बनाने जा रहे हैं। और इस लैब को इंटरनेशनल स्पेस सेंटर का अंडर वाटर एडिशन कहा जा रहा है।Proteus Is World's Largest Underwater Lab and Habitat, the ISS of ... आपको बता दें अंतरिक्ष के बारे में हम जितना जानते हैं उसकी तुलना में समुद्र की बारे में जानकारी बहुत कम है। हम कह सकते हैं समुद्र की जानकारी स्पेस की जानकारी की तुलना में न के बराबर है। हम सिर्फ 5 प्रतिशत ही समूद्र के बारे में जानते हैं। अब वैज्ञानिक इस कमी को पूरा करने के लिए अगले 3 वर्षों में इंटरनेशनल स्पेस सेंटर का अंडर वाटर एडिशन बनाने जा रहे हैं, जिसका नाम प्रोटियस रखा गया है । Plans for futuristic underwater research stationयह एक ऐसी लैब होगी जहां रहकर दुनिया भर की नि​जी एजेंसियां और वैज्ञानिक क्लाइमेट चेंज से लेकर समुद्र से मिलने वाली औषधियों पर प्रयोग कर सकेंगें समुद्र के रहस्यों की खोज के लिए इस लैब का डिजाइन फ्रांस के एक्वानॉट फैबियन काउस्टो और सिस्व इंडस्ट्रियल डिजाइनर इवेस बेहर की जोड़ी ने पेश किया है। यह लैब 40000 स्क्वायर फुट में फैला होगा और इसकी आकृति वृत्ताकार होगी ।PROTEUS Underwater Research Facility | HiConsumption फिलहाल इसे बनाने के लिए धन राशि इकट्ठी की जा रही है। इस लैब को समुद्री स्तर से 60 फुट नीचे बनाया जायेगा। और इसे कुराकाओ के तट पर पानी के भीतर बनाया जायेगा। खंभो पर खड़ी दो मंजिला वृत्ताकार संरचना में पॉन्ड में प्रयोगशालाएं, रहने के लिए निजी क्वार्ट, मेडिकल बे और एक मून पूल होगा जिससे गोताखोर महासागर के तल तक पंहुच सकेंगे। यहा वीडिया प्रोटेक्शन की भी सुविधा होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here