मौसम ने बदली है करवट कहीं बन ना जाये बीमारी का कारण

सर्दियाँ जाने वली है और गरमियाँ आने वाली है और अब इसकी के चलते सरदियों के जाने का समय हो चला है और बसंत ऋतु का आगमन भी हो चला है

0
51

जयपुर । सर्दियाँ जाने वली है और गरमियाँ आने वाली है और अब इसकी के चलते सरदियों के जाने का समय हो चला है और बसंत ऋतु का आगमन भी हो चला है पर इस जाती हुई सर्दी को हल्के में लेना अच्छा नही है यह जाती हुई सी सर्दी और बदलता हुआ मौसम अपने साथ कई तरह की बीमारियाँ ले कर आता है यह बदलता मौसम सिर्फ बच्चों ही नही बड़ों के लिए भी परेशानी  की बड़ी वह बनता है और यह किसी को भी नहीं छोड़ता यह हर किसी को कोई ना कोई बीमारी तोहफे में दे ही देता है ।

इस मौसम में इन बीमारियों से सिर्फ वही बच सकता है जो की खुद को ले कर सजग है और जिसका इम्यून सिस्टम यानि रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत अच्छी है और उसको बीमारियों से लड़ने के लिए परेशानी नही होना पड़ता इस मौसम में संक्रमण का खतरा बहुत ज्यादा होता है । आज हम इसी विषय पर कुछ खास बात ले कर हाजिर हुए हैं आए बात करते हैं इस बारे में ।

इस मौसम में संक्रमण वाली बीमारियाँ बहुत ज्यादा फैलती है जैसे सर्दी ,खांसी, जुकाम ,बुखार,वायरल , स्वाइन फ्लू और पता नही कितनी बीमारियाँ इस मौसम मे हो जाती है और यह बीमारियाँ ऐसी है जो की हाथ मिलाने , साथ खाना खाने , छूने से कपड़ों के इस्तेमाल और बहुत ही सामान्य कारणों से फैल जाती है इससे बचाव ही इंका इलाज़ है ।

इन सभी परेशानियों से बचाव के लिए किसी से भी हाथ मिलाने के बाद सेनेटाइजर का प्रयोग करें । खाना खाने से पहले और बाद में हाथ जरूर धोएँ , बाहर निकलते समय चेहरा अच्छे से ढंक लें या मास्क का प्रयोग करें । साथ ही भूखे पेट ना रहें । बहुत ज्यादा ठंडा ना खाएं बाहर का खाना खाने से बचें ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here