वर्क फ्रॉम होम से बढ़ती कम्यूटर विजन सिंड्रोम की समस्या, आप इन बातों का रखें खास ध्यान

0

जयपुर।कोरोना वायरस के कारण देश में लगाए गए लॉकडाउन के कारण कई लोग इस समय वर्क फ्राम होम कर रहें है।वहीं इस समय स्कूल, कॉलेज बंद है जिसके कारण भी लोग घंटो टी.वी. स्क्रीनस के आगे बैठ कर अपना समय निकाल रहें है और इससे आंखों पर स्ट्रेस पड़ने की समस्या अधिक है।कम्यूटर, टी.वी., मोबाइल और स्मार्टफोन का अधिक इस्तेमाल करने से हमारे आंखों पर घातक असर पड़ता है

जिसके कारण कंप्यूटर विज़न सिंड्रोम की समस्या बढ़ती जा रही है।कंप्यूटर पर लगातार कई घंटो तक काम करने वाले लोगों को कम्यूटर विजन सिंड्रोम का खतरा अधिक रहता है।इसके कारण हमारी आंखों में तनाव, सिर में दर्द रहना, देखने में परेशानी, आंखों में जलन और आंखे के लाल होने जैस लक्षण दिखाई देते है।

इसके अलावा गर्दन, पीठ और कंधे में दर्द का रहना और शरीर में लगातार थकान का होना भी कम्यूटर विजन सिंड्रोम के लक्षण् होते है।आप इस समस्या से बचने के लिए कम्यूटर पर काम करते समय एंटी ग्लेयर चश्मों का इस्तेमाल करें और काम के अलावा डिजिटल स्क्रीन का उपयोग ना करें।

अपनी आंखों की पलकों को बार-बार झपकाएंं, ताकि आंखों की नमी बनी रहें और हमारी आंखे स्वस्थ रहें। कंप्यूटर की स्क्रीन को आंखों से पर्याप्त दूरी पर रखें और काम करते समय बीच—बीच में ब्रेक लें। इससे हमारी आंखो और दिमाग दोनों को आराम मिलता है जिससे हमारे आंखों पर स्क्रीन की लाइट का घातक असर नहीं पडता है।

आप अपनी आंखों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए प्रतिदिन सुबह योगासन का अभ्यास करें।इससे हमारे ब्लड सर्कुलेशन ठीक बना रहता है और आंखो भी स्वस्थ रहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here