प्रधानमंत्री कार्यालय ने किया जातिवादी ट्वीट, बाद में करना पड़ा डिलीट

0
64

जयपुर। पीएमओ इंडिया ने मंगलवार को ट्विटर हैंडल  पीएमओ इंडिया से वो ट्वीट डिलीट कर दिया गया, जिसमें सर छोटू राम को जाट समाज  के मसीहा के रूप में वर्णित किया गया था. ये ट्वीट तब डिलीट किया गया जब  कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आपत्ति जताई और उसके बाद ट्विटर पर सभी लोग इसे लेकर ट्रोल करने लगे.

पीएमओ द्वारा किए गए ट्वीट में दीनबंधु छोटूराम जी को जाटो का मसीहा कहा गया था जिसे लेकर ट्विटर पर कई सवाल खड़े होने लगे थे कई लोगों पीएम मोदी को इस बात के लिए ट्रोल करने लगे और कहने लगे की वो सिर्फ जाटों के मसीहा नहीं बल्कि पुरे समाज के मसीहा है. इस ट्वीट के बाद ये बात भी साफ हो गई की किस तरह से पीएम मोदी कहते की वो जाती की राजनीति नहीं करते है लेकिन उनके मन में और कार्यों में जातिगत राजनीति के कण बसे हुए है.Image result for प्रधानमंत्री कार्यालय ने किया जातिवादी ट्वीट, बाद में करना पड़ा डिलीट

आपको बता दे की 9 अक्टूबर को हरियाणा के रोहतक में प्रधानमंत्री मोदी ने किसान नेता सर छोटूराम की 64 फीट ऊंची प्रतिमा का अनावरण किया था. इसी मौके पर शाम 4.20 मिनट पर प्रधानमंत्री कार्यालय के आधिकारिक अकाउंट से ये ट्वीट करा गया था. आपको बता दे की ये ट्वीट मंगलवार को किया गया था लेकिन विरोध को देखते हुए उसे बुधवार को डिलीट कर दिया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here