पृथ्वी के नक्शे पर नया 8वां महाद्वीप आयेगा नज़र

0
42

जयपुर। धरती पर बहुत ही बड़ी और इसको जानने के लिए इंसानों ने इसको कई भागों में बाँटकर उनको नाम दे दिया है। वैसे तो हमारे धरती पर अभी तक सात महाद्वीप और पांच महासागर हैं। लेकिन अब आपको अपनी जानकारी में थोड़ा बदलाव करना पड़ सकता है क्योंकि अब एक और नया 8वां महाद्वीप भी खोजने का दावा किया जा रहा है। जानकारी के अनुसार बता दे कि भूगोलविदों ने प्रशांत महासागर के भीतर पानी में डूबे हुए इस 8वे नए महाद्वीप की खोज की है। इसकी खास बात यह है कि यह महाद्वीप आकार में भारतीय उप-महाद्वीप जितना ही है।

इसलिए इसे भविष्य में जीलएंडिया के नाम से जाना जाएगा। इस बारे में भूगोल विशेषज्ञों ने अपनी राय रखी है कि जल्द ही इसे वैधानिक दर्जा दे दिया जाए। शोधकर्ताओं ने पहले इसकी पूरी तरह से जांच कर रहे हैं। इसके बाद ही यह बयान जारी किया गया है। शोधकर्ताओं बताया कि दक्षिण पश्चिमी प्रशांत महासागर का 49 लाख किलोमीटर का यह इलाका महाद्वीपीय परत से निर्मित है। इसकी खास बात यह है कि यह हिस्सा ऑस्ट्रेलिया से अलग होकर बना है।

वैज्ञानिकों ने इसके व्यापक भूक्षेत्र भारत की तरह होने से इसका नामकरण जीलएंडिया करने का सुझाव दिया गया है। आपको बता दे कि किसी भी द्वीप को महाद्वीप बनने के लिए कुछ शर्तों पर खरा उतरना होता है। शोधकर्ताओँ ने जानकारी दी है कि जीलएंडिया का इस समय लगभग 94 प्रतिशत हिस्सा पानी में डूबा हुआ है और 6 % धरातल है। न्यूजीलैंड के विक्टोरिया यूनिवर्सिटी ऑफ वेलिंगटन और ऑस्ट्रेलिया के यूनिवर्सिटी ऑफ सिडनी के अनुसंधानकर्ताओं ने यह नया महाद्वीप खोजा निकाला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here