IMF ने कहा- मदद के लिए पाकिस्तान को देना होगा चीन से लिए कर्ज का ब्यौंरा

0
97

जयपुर, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की प्रमुख क्रिस्टीन लेगार्ड ने पाकिस्तान से कहा है कि बेलआउट के लिए पूरी तरह से पार्दर्शिता दिखानी होगी। जिसके चलते उन्होंने पाकिस्तान से कहा है कि चीन से उन्होंने कितने का कर्ज लिया है इसका हिसाब देना होगा। क्रिस्टीन ने इंडोनेशिया में आयोजित विश्व बैंक की बैठक में कहा कि हम जिस भी देश को कर्ज देते है उसके पहले के कर्ज का सारा हिसाब रखना होता है।

न्यजू एजेंसी ‘एफे’ के अनुसार, क्रिस्टीन ने कहा कि आईएमएफ को ऋणों के संबंध में स्पष्ट जानकारी की आवश्यकता है, जिसमें यह बताना होगा कि स्वतंत्र देशों सहित सरकारी स्वामित्व वाली कंपनियों से कितना कर्ज लिया गया है। आईएमएफ प्रमुख के बनाय से साफ है कि पाकिस्तान को बेल्ट और रोड परियोजना में उसकी भागीदारी के हिस्से के रूप में चीन से लिए ऋण की जानकारी देनी होगी।

इससे पहले पाकिस्तान ने कहा कि उसे आईएमएफ से कर्ज की जरूरत होगी। साथ ही कहा कि देश का व्यापार घाटा ऊपर होता जा रहा है। जिसकी वजह से मुद्रा में गिरावट आ रही है, इतना ही नहीं पाकिस्तान ने कहा कि उनका विदेशी मुद्रा भंडार जल्द ही खत्म होने की कगार पर है। विशेषज्ञों का कहना है कि पाकिस्तान को आयात और कर्ज का भुगतान करने के लिए 12 अरब डॉलर (15,95,04,00,00,000 पाकिस्तानी रुपए) की जरूर है। क्रस्टीन ने कहा कि अभी तक ना तो उनसे पाकिस्तान के वित्तमंत्री मिले है और ऩा ही किसी तरह की कोई अधिकारिक मांग सामने आई है।

हालांकि उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष पाकिस्तान के एक प्रतिनिधिमंडल से बात करेगा। बता दें कि पाकिस्तान को कर्ज मिलना चीन की वजह से जटील होता जा रहा है क्योंकि पाकिस्तान पर चीन का भारी कर्ज है जिसकी वजह से उसके सामने कई सारी परेशानियां आ रही है क्योंकि चीन ने अपने प्रोजेक्टों की कीमत के बारे में जानकारी नहीं दी है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here