Corona को मात देने के लिए वैक्सीन की पहली खेप पहुंची लखनऊ

0

कोरोना संक्रमण को मात देने की तैयारी अंतिम चरण में है। यूपी में 16 जनवरी से शुरू होने वाले कोरोना टीकाकरण के लिए वैक्सीन की पहली खेप राजधानी लखनऊ पहुंच गई है। यहां जिन जिलों में टीकाकरण होना है वहां वैक्सीन को ले जाया जाएगा। मंगलवार को एक विशेष विमान से वैक्सीन को पुणे से लखनऊ लाया गया। इसे लेकर अमौसी एयरपोर्ट पर अलर्ट जारी किया गया था। वैक्सीन को कड़ी सुरक्षा में जगत नारायण रोड स्थित वाक इन कोल्ड रेफ्रिजरेटर में रखा जाएगा।

उत्तर प्रदेश के स्वास्थ मंत्री जय प्रताप सिंह ने लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट, अमौसी पर पुणे से विशेष विमान से लाई गई 11 लाख कोविशील्ड वैक्सीन को रिसीव किया। इसके बाद लोड कंटेनर को झंडी दिखाकर रवाना किया।

यह लखनऊ मंडल के लिए वैक्सीन भेजी गई है। कड़ी सुरक्षा के बीच इसे भंडारण के लिए भेजा गया है। अब यह जिलों में भेजी जाएगी। 16 जनवरी से टीका लगाया जाएगा। पहले चरण में 9 लाख स्वस्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगेगी। बुधवार को फिर दूसरी खेप मिलने की उम्मीद है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बड़ी संख्या में कोरोना वैक्सीन की आमद सुखद पल है। इसको लेकर हमारी तैयारी पूरी है। स्वास्थ मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा कि देश में सर्वाधिक कोविशील्ड वैक्सीन उत्तर प्रदेश को मिली है। प्रदेश को 11 लाख कोविशील्ड वैक्सीन मिली है। शनिवार को पहले प्रदेश के तीन लाख स्वास्थकर्मियों को वैक्सीन लगाई जाएगी। उन्होंने कहा कि हम लोग वैक्सीनेशन के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। देश में सर्वाधिक तीन बार उत्तर प्रदेश में वैक्सीनेशन के लिए रिहर्सल किया गया है।

लखनऊ में कोविशील्ड वैक्सीन को विशेष सुरक्षा तथा कोल्ड चेन में रखा जाएगा। एयरपोर्ट से लखनऊ में कोरोना वैक्सीन को सीधा स्टेट वैक्सीन सेंटर, जगत नारायण रोड में लाया जाएगा। इसके बाद कड़ी सुरक्षा में स्टेट वेयर हाउस, ऐशबाग भेजा जाएगा। लखनऊ में पुणे से 704 लीटर वैक्सीन लाई गई है। इनको रखने के लिए उत्तर प्रदेश में कुल 18 वैक्सीन स्टोर बनाए गए हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हर जिले में जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्साधिकारी के बीच वैक्सीनेशन को लेकर बेहतर तालमेल का निर्देश दिया है। सभी जिलों में कोल्ड चेन बरकरार रखने के साथ जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग में अच्छा समन्वय रखने को कहा गया है।

न्यूज स्त्रेत आईएएनएस

SHARE
Previous articleSonu Sood: अवैध निर्माण को लेकर सोनू सूद को बीएमसी ने बताया आदतन अपराधी
Next articleAkhilesh का भाजपा पर हमला बोले, सरकार सुप्रीम कोर्ट की तो सुन ले
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here