तो इस तरह से किसान का बेटा बन गया हिमाचल का मुख्यमंत्री

0
343
Jairam Thakur

1998 से एक भी विधानसभा चुनाव नही हारे और भाजपा के भरासेमंद नेता जयराम ठाकुर अब हिमाचल प्रदेश के नए मुख्यमंत्री होंगे। करीब एक सप्ताह से चली आ रही सीएम की लड़ाई का पटाक्षेप आखिरकार हो ही गया। वैसे प्रेम कुमार धूमल के चुनाव हार जाने के बाद भाजपा ने ये मन बना ही लिया था कि मुख्यमंत्री विधायकों में से ही कोई होगा। लेकिन फिर भी धूमल को मिल रहे समर्थन से भाजपा को सोचने पर मजबूर तो कर ही दिया था। वैसे जयराम ठाकुर धूमल को बराबर टक्कर देने वाले नेता हैं।

कैसा है अब तक का सफर

6 जनवरी 1965 को जन्मे जयराम ठाकुर का परिवार एक गरीब परिवार था। पिता किसान थे और माँ अपने पति का सहयोग करती थी। जयराम एक राजपूत घराने से हैं। मंडी के तंडी गांव से आते हैं। जयराम पाँच भाई-बहन सें सबसे छोटे हैं। अपने कॉलेज के दिनों में ही वो भाजपा के स्टूडेंट यूनियन एबीवीपी से जुड़ गए थे और बाद में वो पूरी तरह से भाजपा के कार्यकर्ता भी बन गए। जयराम कॉलेज में छात्र संघ का चुनाव भी जीते। एबीवीपी में ही उनकी पूछ इतनी थी कि उन्हें देश के कई हिस्सों में भेजा जाने लगा।

मुख्यमंत्री का नाम आने के बाद जयराम ठाकुर

जयराम ठाकुर ने भाजपा के टिकट पर मंडी से अपना पहला चुनाव लड़ा 1993 में। लेकिन हार गए। इसके बाद 1998 में यहाँ से उन्होंने चुनाव लड़ा और फिर 1998 से अब तक कभी चुनाव नही हारे। पाँच बार से लगातार जीतते हुए आ रहे हैं। 2007 में परिसिमन बदलने के बाद जयराम के विधानसभा क्षेत्र का नाम सेराज हो गया। अगर इस बीच में हारने की बात की जाए तो वो एक बार चुनाव ज़रूर हारे हैं। लेकिन विधानसभा का नही, लोकसभा का। 2013 में लाकसभा उपचुनाव में वो हिमाचल प्रदेश के तब के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह से चुनाव हार गए थे।

जहाँ तक कि इस बार के विधानसभा चुनावों की बात की जाए तो मंडी की 10 विधानसभा सीटों में 9 पर भाजपा की जीत हो गई। ये सारे क्षेत्र ठाकुर से प्रभावित थे। प्रेम कुमार धूमल का चुनाव लड़ना और हार जाना, इस चीज़ ने ठाकुर को सीएम की गद्दी तक पहुँचने में अहम योगदान दिया है। हालांकि जयराम का चुना जाना भाजपा की एक चाल भी है, क्योंकि ठाकुर और धूमल दोनों ही राजपूत हैं और ठाकुर और धूमल की जगह किसी और का मुख्यमंत्री बनना भाजपा को नुकसान पहुँचा सकता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here