अधूरे ख्वाब: शादी-पत‍ि और बहुत सारे बच्चे चाहती थीं रेखा, लेकिन किस्मत को शायद कुछ और ही मंजूर था

0
45

आज हिंदी सिनेमा की मशहूर, दिग्गज और खूबसूरत अदाकारा रेखा का जन्मदिन है। ऐसे खास मौके पर हम आपके लिए उनकी कुछ ऐसी बाते लेकर आए है जिसे आप इससे पहले शायद ही कभी जानते हों। हमेशा मुस्कुराती दिखने वाली रेखा के दर्द पर लोगों ने ज्यादा बात नहीं की। इसमें कोई दो राय नहीं है कि रेखा ने अपनी जिंदगी में काफी शोहरत हासिल की है, उन्होंने इस शोहरत को पाने के लिए काफी ज्यादा संघर्ष किया है। उन्होंने अपने अभिनय करियर की शुरूआत महज 13 साल की उम्र में किया था। इसके बाद से उन्होंने एक के बाद एक कई फिल्मों में काम किया। एक बार रेखा ने बातचीत में कहा था कि, मैं कभी भी एक्ट्रेदस नहीं बनना चाहती थी। लेकिन घर के हालात ने मुझे वहां तक पहुंचा दिया।

actress Rekha

रेखा के पिता का नाम जैमिनी गणेशन था लेकिन उन्होंने एक चैट शो में अपने पिता के बारे में बताया था कि, मैंने उन्हें देखा, लेकिन महसूस नहीं किया। जब लोग फादर शब्द बोलते हें तो मुझे चर्च के फादर सबसे पहले याद आते हैं। मैं ये भी नहीं कहूंगी कि मैंने उन्हें बहुत याद किया, क्योंकि जो रिश्ता कभी था ही नहीं उसकी कमी कैसे महसूस होती।

रेखा ने एक बार चौंकाने वाली बात कही थी। उन्होंने कहा था कि, मुझे नहीं लगता मेरे पिता ने कभी मुझे देखा भी। हां मैंने उन्हें देखा है, उनकी फिल्में देखी हैं, लेकिन रियल लाइफ में कभी महसूस नहीं किया।

जब रेखा ने बॉलीवुड की फिल्मों में काम करना शुरू करने की सोची तो वो बॉलीवुड की फिल्मों के हिसाब से, सांवली, स्लिमट्रिम नहीं थी इतना ही नहीं उन्हें हिंदी तक नहीं आती थी लेकिन उन्होंने अपने आप को बदला।

इसके बाद रेखा ने बॉलीवुड में बड़ी सफलता हासिल की जो आजतक कायम है। लेकिन रेखा की जिंदगी में सिर्फ एक ही कमी थी वो एक ऐसे शख्स की जिसे वो अपना जीवन साथी कह सकती थी। इस बात का अंदाज इससे लगाया जा सकता है जब उन्होंने एक बार कहा था कि, मैं कभी एक्ट्रेस नहीं बनना चाहती थी। बस शादी करना, पति के साथ रहना और बहुत सारे बच्चे चाहती थी। ये तो किस्मेत थी जो मैं यहां तक (सिनेमा) पहुंच गई। हां मुझे इस बात का मलाल नहीं है, जो मिला उसकी शुक्रगुजार हूं, लेकिन पहले मेरा सपना घर बसाना ही था।

आपको बता दें कि रेखा ​की जिंदगी में कई शख्स आए। हालांकि उनका कोई भी प्यार रिश्ते में नहीं बदला। लेकिन रेखा की जिंदगी में दो पलों ने उनको बदलकर रख दिया। पहला जब उनकी मुलाकात अमिताभ बचचन से हुई, दूसरा जब रेखा की शादी 1990 में मुकेश अग्रवाल से की।

रेखा ने एक बातचीत में कहा था कि, वैसे तो काम के मामले में अमित जी से मैं सीनियर हूं, लेकिन उनके सामने खड़े होने के लिए हिम्मात नहीं थी। पहली बार जब शॉट दिया तो घबराकर डायलॉग भूल गई। उन्होंने बस इतना कहा, हो सके तो अपने डायलॉग याद कर लीजिएगा।

रेखा ने कहा था कि, ये सुनना था और मेरे होश उड़ गए। मैंने उनके जैसा सुलझा, काम के प्रति गंभीरता कहीं नहीं देखी थी। इन सारी चीजों का मुझ पर बहुत असर हुआ। आपको बता दें कि रेखा और अमिताभ ने एक साथ कई ​फिल्मों में काम किया है। दूसरा मुकाम था उनकी शादी, जब उन्होंने किसी शख्स से महज एक महीने की मुलाकात के बाद शादी की बात बताकर सनसनी मचा दी थी। हालांकि शादी के एसा साल के अंदर ही मुकेश अग्रवाल ने आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद रेखा पर कई तरह के सवाल उठे थे लेकिन रेखा ने चुप्पी बनाए रखी। उस समय रेखा गॉसिप के लिए ऐसी सेलिब्रिटी बन गई थी जिनके बारें मे पता नहीं क्या क्या कहा सुना गया।

हालांकि इन सबके होने के बाद भी रेखा का फलसफा बहुत साफ है। वो कहती हैं कि, मेरी जिंदगी में जो भी हुआ फिर उसका कभी मुझे कितना भी दर्द क्यों नहीं हुआ, लेकिन मैं उन सबकी तहे दिल से शुक्रगुजार हूं। क्योंकि अगर वो सब नहीं होता, तो आज मैं रेखा नहीं बनती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here