ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास ग्वालियर में महल, कई कोठियां

0
92

ग्वालियर के सिंधिया राजघराने से नाता रखने वाले गुना संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास करोड़ों रुपये की पैतृक संपत्ति है, जिसमें महल, कोठियों के साथ-साथ व्यक्तिगत तीन करोड़ रुपये की एफडीआर शामिल है। उनके पास एक पैतृक बीएमडब्ल्यू कार भी है।

सिंधिया ने शनिवार को गुना-शिवपुरी संसदीय क्षेत्र से अपना नामांकन भरा, और इस दौरान दिए शपथ-पत्र में सिंधिया ने खुलासा किया है कि उन पर किसी भी तरह का आपराधिक मामला दर्ज नहीं है और न उन्हें किसी भी मामले में दोषी ठहराया गया है।

सिंधिया के पास पैतृक संपत्ति में 40 एकड़ में फैला ग्वालियर का जय विलास पैलेस है। इसके अलावा महाराष्ट्र में श्रीगोंड़ा में 19 एकड़ और लिंबन गांव मे 53 एकड़ जमीन है। इसके साथ ही रानी महल, हिरनवन कोठी, रैकेट कोर्ट, शांतिनिकेतन, छोटी विश्रांति, विजय भवन, पिकनिक स्पॉट, बूट बंगला, रेलवे कैरिज घंटी घर, इलेक्ट्रिक पॉवर हाउस रोषनी घर आदि रिहायशी संपत्तियां हैं। इन संपत्तियों की बाजार कीमत 2,97,00,48,500 रुपये है।

पंचवीं बार गुना संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे सिंधिया ने अपने शपथ-पत्र में बताया है कि उनके पास 301,87,000 रुपये से ज्यादा की एफडीआर, और 3,33,39,827 रुपये की चल संपत्ति है। सिंधिया की ओर से बीते वर्ष दाखिल आयकर रिटर्न में उनकी वाíषक आमदनी 151,56,720 रुपये है। वहीं उनकी धर्मपत्नी प्रियदर्शिनी राजे की वार्षिक आय 250,400 रुपये है। ज्योतिरादित्य के मुम्बई में दो आवास हैं, जो समुद्र महल में हैं। इनकी बाजार कीमत 31,97,70,000 रुपये है।

शपथ-पत्र के अनुसार, पैतृक संपत्ति जीवाराव एम. सिंधिया से प्रतिवर्ष आय 467,410 रुपये है। उनके पास 2,066 ग्राम जेवरात है। कुल जेवरात जिसमें गोल्ड कप आदि शामिल है, उसकी कीमत 8,68,53,219 रुपये है। सिंधिया के पास 1960 मॉडल की एक पैतृक बीएमडब्ल्यू कार है।

शपथ-पत्र के अनुसार, सिंधिया ने देहरादून के तूने स्कूल से स्कूली शिक्षा अíजत की है, और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी यूएसए से बीए अर्थशास्त्र और स्टानफोर्ड यूनिवर्सिटी से मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिस्ट्रेशन की डिग्री ली है। सिंधिया के एक पुत्र और एक पुत्री हैं।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleनवजोत सिंह सिद्धू को निर्वाचन आयोग का नोटिस
Next articleओडिशा : तीसरे चरण में 119 करोड़पति उम्मीदवार
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here