इस छोटे से पत्थर को हिलाने में हार गए बड़े-बड़े बाहुबली, लेकिन शिव का नाम लेते ही…

0
161

जयपुर, भारत एक ऐसा देश है जिसके बारे में कहा जाता है कि यहां की संस्कृति विविधता में एकता वाली है।  जिसके चलते कई तरह के ऐसे धार्मिक स्थल बने हुए हैं जिनके बारे में जानकर हर कोई हैरान हो जाता है। आज आपको एक ऐसी ही अजीबोगरीब जगह के बारे में बता रहे हैं।

जिसकी सच्चाई जानकर आप हैरान हो जाएंगे। जी हां हम बात कर रहे हैं उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में स्थित शिवधाम की। जिसे मोस्टा मान मंदिर के नाम से भी जाना जाता है।  इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यहां एक अलौकिक पत्थर है। जिसके सामने बड़े-बड़े वैज्ञानिक भी फेल हो गए ।

बताया जाता है कि इस अलौकिक पत्थर को हिलाने के लिए बड़े-बड़े बाहुबली लोगों ने जोर अजामा लिया। लेकिन हिला भी नहीं सके। वहीं वैज्ञानिकों में भी कई बार प्रयास किया लेकिन कोई सफलता नहीं मिली है। चौंकाने वाली बात यह है कि जब भी कोई भगवान शिव का नाम लेकर इस पत्थर को हिलाने का प्रयास करता है तो यह आसानी से हिल जाता है।

आखिर इसकी क्या वजह है इसको आज तक कोई नहीं समझ पाया है। कहते है कि जो व्यक्ति श्रद्धा से भगवान शिव का नाम लेकर इस पत्थर को अपने कंधे तक उठा लेता है।  उसका भाग्य परिवर्तन हो जाता है। कहते है कि उसे दोबारा पीछे मुड़कर देखने की आवश्यकता नहीं होती है।

इस मंदिर को माता काली से भी जोड़कर देखा जाता है। माता काली ने क्रोधित होकर चामुंडा का अवतार धारण किया और चंडमुंड राक्षक का वध किया किया था। जिसके बाद इस वन का नाम चंडावल वन रखा गया था। वहीं पत्थर के बारे में कहा जाता है कि इस नेपाल से लाया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here