प्ब्जी खेलने के लिए महगी मोबाइल के जिद ने ले ली बच्चे की जान -जाने वजह

हलाकि प्ब्जी किसी तरह का मानसिक प्रलोभन नहीं देता है।बता दे कि भारत में प्ब्जी तेजी से लोकप्रिय होनेवाला ऑनलाइन गेम है जिसकी दीवानगी नौजवानो के सर चढ़कर बोल रही है। 

0
21

एक के बाद एक ऑनलाइन गेमिंग किशोरों को दिमागी तौर पर लचर बना रही है। कुर्ला में रहने वाले 18 वर्षीय नदीम कुरैशी ने प्ब्जी के खातिर किचन के पंखे से लटक कर खुदखुशी कर लिया। बताया जा रहा है कि यह बच्चा बुरी तरह से प्ब्जी का दीवाना हो गया था और हमेशा दिन हो या रात बस पाबजी खेलने में मशगूल रहता था। घरवालों के मना करने पर बुरा मान जाता था। यही नहीं बच्चा पाबजी के लिए महंगे स्मार्टफोन की जिद पर अड़ा हुवा था जिसके न मिलने से नाराज किशोर ने शुक्रवार की रात किचन में पंखे से लटक कर खुदकुशी कर ली.गैरतलब है कि पडोसी याकूब कुरैशी ने बताया की बच्चे अक्सर आस-पास भी मोबाईल में घुसा हुआ रहता था.इस मामले में नेहरु नगर पुलिस स्टेशन के पीआई विलास शिंदे ने से प्राप्त सुचना के अनुसार बीते 4 फरवरी ‘शुक्रवार को नदीम ने अपने भाई से नया मोबाईल खरीदने के लिए 37 हजार रुपये मांगे थे. जिसका डिस्ल्पे और साऊंड अच्छा था . बच्चा मध्यमवर्ग परीवार से है, जो बच्चे को सिर्फ गेम खेलने के लिए कीमती मोबाइल नहीं खरीदना चाहते थे.बच्चे की आत्महत्या ने परिवार को बड़ा सदमा दिया है जिससे परिवार के अधिकांश सदस्य उबर नहीं पाए है.आपको बता दे कि पिछले साल दुनियाभर के तमाम बच्चे ब्ल्यू व्हेल गेम से प्रेरित होकर आत्महत्या किये थे जिसके बाद इसे वैश्विक स्तर पर प्रतिबंधित कर आम पहुँच के परिधि से बाहर कर दिया गया। हलाकि प्ब्जी किसी तरह का मानसिक प्रलोभन नहीं देता है।बता दे कि भारत में प्ब्जी तेजी से लोकप्रिय होनेवाला ऑनलाइन गेम है जिसकी दीवानगी नौजवानो के सर चढ़कर बोल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here