कम रन पर ऑलआउट होने में सिर्फ टीम इंडिया की गलती नहीं है, देखिए सबूत

इसलिए ही तो दूसरी पारी की तुलना में पहली पारी में रन का स्कोर कम बनता है। यहां तक की टॉस जीतने बाली टीम इस मैच में पहले गेंदबाजी का फैसला करती हैं। क्येांकि शुरूआत में जो पिच में मूवमेंट होता हैै । उसे उसके गेदंबाजों को फायदा मिल सके।

0
53

जयपुर. दूसरे टेस्ट मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया ने 35.2 ओवर में 107 रन बनाकर आॅल आउट हो गई। यहां तक की तीन खिलाडी तो अपना खाता भी नहीं खोल सके। यह मैच लॉर्डस के मैदान पर खेला जा रहा हैं। दूसरे टेस्ट का पहला दिन बारिश की वजह से रद्द कर दिया था। हालांकि दूसरे दिन का खेल सहीं समय पर शुरू हुआ था। लेकिन दूसरे दिन भी बारिश ने खेल मेें खलल पैदा की थी। इसके साथ ही पूरे दिन भर सिर्फ 35.2 ओवर का ही खेल हो पाया था।

गौरतलब है कि भारतीय टीम की तरफ से सबसे ज्यादा रन रविचंद्रन अश्विन (29) ने बनाए। इसके अलावा कप्तान विराट कोहली ने 23 रन बनाए और अजिंक्य रहाणे ने 18 रनों का योगदान दिया। इसके अलावा कोई भी बल्लेबाज गेंदबाजों का सामना नहीं कर पाया ।

दूसरा मैच लॉर्डस के मेैदान पर खेला जा रहा है। यदि लॉर्डस के पिछले तीन मैचों की पहली पारी का रिकॉर्ड देखे तो कोई भी टीम ज्यादा स्कोर नहीं बना पाई है। पिछले तीन मैचों की पहली पारी का औसत 138 रन है।

साल 2017 के वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच की जाए तो वेस्टइंडीज ने लॉर्डस के मैदान में पहली पारी में सिर्फ 123 रन का बेहद ही कम स्कोर बनाया। इसके बाद पाकिस्तान ने 184 और अब भारत ने 107 रन बनाए है। हालांकि कई ना कई इसका कारण इस पिच को लेकर और मौसम को लेकर हो सकता है। असमान में बादल छाए होने से और पिच में नमी होने से गेंदबाज को स्विंग और सीम दोनों मूवमेंट प्राप्त होते है।

इसलिए ही तो दूसरी पारी की तुलना में पहली पारी में रन का स्कोर कम बनता है। यहां तक की टॉस जीतने बाली टीम इस मैच में पहले गेंदबाजी का फैसला करती हैं। क्येांकि शुरूआत में जो पिच में मूवमेंट होता हैै । उसे उसके गेदंबाजों को फायदा मिल सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here