तमिलनाडु : पोलाची मामले पर छात्रों के आंदोलन से कॉलेज बंद

0
334

तमिलनाडु सरकार द्वारा पोलाची दुष्कर्म व ब्लैकमेल मामले की सीबीआई जांच को मंजूरी दिए जाने के अगले दिन इस मामले से जुड़े कई सनसनी खेज तथ्यों के सामने आने और हिंसा की आशंका से अधिकारियों ने गुरुवार को स्थानीय कॉलेजों में अवकाश घोषित कर दिया। मद्रास उच्च न्यायालय ने गुरुवार को विशेष जांच दल के जांच की मांग की याचिका को खारिज कर दिया। अदालत ने कहा कि केंद्रीय जांच ब्यूरो को पहले ही मामले की जांच के लिए कहा गया है।

सीबीआई दो मामलों की जांच करेगी, जिसे कोयंबटूर जिले के पोलाची ईस्ट पुलिस थाने में बीते महीने दर्ज किया गया है।

सैकड़ों छात्रों, वकीलों व महिला संगठनों के सदस्यों ने बुधवार को सड़कों पर उतरकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की। छात्रों ने कक्षाओं का बहिष्कार किया और धरना प्रदर्शन कर सख्त सजा की मांग की।

कोयंबटूर के वकीलों ने अदालत परिसर के बाहर प्रदर्शन कर मद्रास उच्च न्यायालय की एक महिला न्यायाधीश की अगुवाई में एक जांच कमेटी की मांग की।

जिला प्रशासन ने शहर के कॉलेजों को बंद करने का आदेश दिया है। ऐसा छात्रों द्वारा बुधवार को किए गए प्रदर्शन को फिर दोहराए जाने से रोकने के लिए किया गया है। छात्रों ने अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

मामले के अभियुक्त थिरुनावुक्कारसु, सबरीराजन, वसंतकुमार, सतीश हिरासत में हैं।

कई दिनों से वीडियों व अफवाहें फैल रही हैं कि इस गैंग द्वारा बहुत से कॉलेज की शिक्षिकाओं से लेकर छात्राओं और यहां तक कि कामकाजी पेशेवरों और अन्य महिलाओं के यौन उत्पीड़न व इन्हें ब्लैकमेल किया।

इस तरह के वीडियो सामने आए हैं, जिसमें स्पष्ट रूप से दिख रहा है पीड़ितों को प्रलोभन देकर एकांत स्थानों पर ले जाया गया और उनसे छेड़छाड़ की गई, फिल्म बनाई गई और फिर फिल्म को जारी करने की धमकी देकर पैसे के लिए ब्लैकमेल किया गया।

एक अधिकारी ने कहा कि अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (अन्नाद्रमुक) सरकार ने कोयंबटूर पुलिस से मामले को क्राइम ब्रांच-क्राइम इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट (सीबीसीआईडी) को भेजे जाने के तुरंत बाद मामले को सीबीआई को सौंपने का फैसला किया।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleरात ढाई बजे पति को बेड के नीचे से आने लगी आवाज, झांककर देखा तो उड़ गये होश..
Next articleआईपीएल में भी नंबर 1 हैं कप्तान विराट कोहली, जानिए बेमिसाल रिकॉर्ड
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here