निर्वाचन आयोग में जारी किए 12 क्षेत्रीय पार्टियों को चिन्ह

0

बिहार विधानसभा चुनाव में निर्वाचन आयोग ने 12 छेत्रीय पार्टियों को चुनाव चिन्ह आवंटित कर दिया। बिहार चुनाव अब काफी नजदीक है और यह देखते हुए चुनाव आयोग का यह कदम तैयारी की ओर एक कड़ी है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की हिंदुस्तानी आवाम पार्टी को कड़ाही का चुनाव चिह्न मिला है। जबकि, पूर्व सांसद पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी को कैंची का चिन्ह दिया गया है। हालांकि, पप्‍पू यादव ने आरोप लगाते हुए कहा है कि उनकी पार्टी का चुनाव चिह्न भारतीय जनता पार्टी के इशारे पर बदला गया है।

निर्वाचन आयोग ने 12 क्षेत्रीय दलों के लिए चुनाव चिह्न की घोषणा कर दी है। हिंदुस्तानी आवाम पार्टी को कड़ाही तथा जन अधिकार पार्टी को कैंची के सिंबल के अलावा जनता दल राष्ट्रवादी को डोली, भारतीय लोकनायक पार्टी को रोड रोलर तथा आम जनता पार्टी राष्ट्रीय को चप्पल के सिंबल मिले हैं।

जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह ने पार्टी के चुनाव कैंची को लेकर कहा कि यह लोगों की पहली पसंद बनेगी। पार्टी के महासचिव एजाज अहमद ने कहा कि उनकी पार्टी सभी शोषित और वंचित लोगों के लिए बदलाव की वाहक बनेगी।चुनाव चिह्न की जानकारी देते हुए जन अधिकार पार्टी के अध्‍यक्ष पप्पू यादव ने बताया कि 2015 से उनकी पार्टी का सिंबल हॉकी था, जो अब बदल गया है।अब उनकी पार्टी का नया चुनाव चिह्न कैंची है। उन्होंने कहा कि पार्टी सभी 243 विधानसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी। अब कैंची के सहारे जनता भ्रष्ट्राचारियों और लुटेरों के पर कतरेगी। कैंची जनता के सामने एक विकल्प के रूप में होगी। उन्‍होंने विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी की जीत को तय बताया, लेकि यह भी कहा कि उनका सिंबल बीजेपी के इशारे पर बदला गया है। पहले वाले सिंबल जनता जानती है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here