मुफ़्ती आतंकवाद के प्रति नरम है – स्वामी

0
54

जयपुर। शुक्रवार को जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री के पीडीपी को तोड़ने के बयान के बाद बीजेपी के नेता और राज्य सभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा की मुफ़्ती का बयान बताता है की उनका रवैया आतंकवाद को लेकर कितना ढीला है।

आपको बता दे आज शुक्रवार को मुफ़्ती ने कहा कि “अगर दिल्ली ने 1987 की तरह यहां की अवाम के वोट पर डाका डाला, अगर किसी किस्म की तोड़फोड़ की कोशिश की जिस तरह एक सलाहुद्दीन एक यासीन मालकी ने जन्म हुआ था उसी तरह.. अगर दिल्ली वालो ने पीडीपी की तोड़ने की कोशिश की तो उसका नतीजा बहुत खतरनाक होंगा।”

मुफ़्ती के इस बयान पर स्वामी ने कहा कि “मुझे मुफ़्ती का इस बयान लिए धन्यवाद देना है क्योंकि उन्होंने अब साबित कर दिया है, जो मैं काफी समय से कह रहा हूं कि वह हमेशा अपने पिता की तरह आतंक पर हमेशा नरम रही है। उदाहरण के लिए, मुफ्ती सत्ता में थी जब गुलमर्ग, अनंतनाग और शंकरचार्य का नाम बदल दिया गया था। यह स्वयं ही दिखाता है कि आप कश्मीर को इस्लाम में बदलना चाहते हैं”

स्वामी ने कहा की अच्छा हुआ की बीजेपी ने मेरी बात मान ली और पीडीपी का साथ छोड़ दिया। बीजेपी को भी पता लग गया है की पीडीपी का मेरा विरोध बीजेपी के लिए अच्छा था। उन्होंने कहा की कश्मीर पिछले काफी समय से मुफ़्ती जैसे पाखंडी लोकतांत्रिक नेताओं की वजह से प्रभावित हुआ है।

स्वामी ने कहा की बीजेपी ने पीडीपी के साथ हाथ मिलाकर अपने समर्थको का भरोसा तोडा है। अब बीजेपी सिर्फ एक हिन्दू को प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाकर की ये भरोसा वापस जीत सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here