निरंतरता ने Mumbai को बनाया चैम्पियन, प्रयोग ने सीएसके को फिसड्डी : ग्लोफैंस क्रिक डेटा मेट्रिक्स

0

टीम लाइनअप में निरंतरता के कारण मुंबई इंडियंस लगातार अच्छा प्रदर्शन कर पाई और बड़ी आसानी से अपना इंडियन प्रीमियर लीग खिताब बचा पाने में सफल रही। ग्लोफैंस की क्रिक डेटा मैट्रिक्स व्हाइट पेपर ने बताया है कि आईपीएल के 13वें सीजन का पहला मैच खेलने वाली दो टीमें मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स को क्या चीजें अलग बनाती हैं।

मुंबई और चेन्नई ने आईपीएल 2020 की शुरूआत दो शीर्ष टीम के तौर पर की थी। एक ने मौजूदा विजेता के तौर पर और एक ने उपविजेता के तौर पर। मुंबई इंडियंस ने तो अपने से लगी उम्मीदों को पूरा कियाए लेकिन चेन्नई अंकतालिका में निचले स्थान पर रही।

क्रिक डेटा मैट्रिक्स ने आईपीएल में फेंकी गई 14,007 लीगल डिलेवरीज का विश्लेषण किया है। हर डिलेवरी को ग्लोफैंस के कॉपीराइट वाले टूल से 40 पैमानों पर मापा गया है। आईपीएल-13 पर व्हाइट पेपर की स्टडी को पांच लाख साठ हजार दो सौ अस्सी अलग-अलग मैट्रिक्स पर मापा गया है।

560,280 प्राथमिक स्टडी के बाद जो कर्व मिला उसमें मुंबई इंडियंस सबसे आगे है। रोचक बात है कि इसमें पिछले साल की उपविजेता नीचे गिरती दिखी है।

नंबर-3 और नंबर-5 बल्लेबाजी क्रम पर निरंतरता निर्णायक पहलू बना है। मुंबई इंडियंस के लिए नंबर-3 पर सूर्यकुमार यादव बल्लेबाजी कर रहे थे। चौथे और पांचवें नंबर पर वह तीन विकल्प के साथ गए। वहीं सीएसके के पास सुरैश रैना की गैरमौजूदगी में कभी भी सैटल बल्लेबाजी क्रम नहीं दिखा।

मुंबई ने तीसरे नंबर पर सूर्यकुमार को ही खेलाया, लेकिन सीएसके लगातार इस क्रम पर बदलाव करती रही। फाफ डु प्लेसिस और शेन वाटसन ने इस नंबर पर तीन-तीन पारियां खेलीं। जब तक अंबाती रायडू इस नंबर पर सैटल होते चेन्नई के लिए टूर्नामेंट खत्म हो गया था।

इसी तरह मुंबई ने नंबर-4 पर तीन विकल्प आजमाए जो अधिकतर मैच की स्थिति के हिसाब से थे। वहीं सीएसके ने 12 पारियों में छह अलग-अलग खिलाड़ी यहां आजमाए। यहां दोनों टीमें में अंतर इस बात से देखा जा सकता है कि मुंबई ने नंबर-4 पर 144.22 की स्ट्राइक रेट से 437 रन बनाए। वहीं चेन्नई ने 118.81 की स्ट्राइक रेट से 259 रन बनाए।

एक बार फिर नंबर-5 पर मुंबई के तीन अलग-अलग बल्लेबाजों ने 131.29 की स्ट्राइक रेट से 193 रन बनाए। वहीं सीएसके ने नंबर-5 पर 11 पारियों में छह अलग-अलग बल्लेबाजों को आजमाया, लेकिन पारी को बचाने के दबाव में यहां रन रेट गिरता गया।

मजबूत और निरंतर बल्लेबाजी से मुंबई के गेंदबाजों को भी फायदा हुआ। उसके जसप्रीत बुमराह और ट्रेंट बोल्ट ने 29 और 27 विकेट लिए। वहीं सीएसके के दीपक चहर तथा सैम कुरैन 13 एंव 12 विकेट ही ले सके।

श्रन्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleआर्थिक सुधारों की गति भारत को वैश्विक निवेश का केंद्र बनायेगी:वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
Next articleमेरे लिए ‘दिल्ली क्राइम’ हमेशा से विजेता रहा है : Shefali Shah
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here