सुप्रीम कोर्ट ने दिया अयोध्या मामले में अपना ये पहले फैसला, स्वामी हुए नाराज़

0
236

आज से अयोध्या में विवादित ज़मीन के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने आज से सुनवाई शुरु हो गई है। 6 दिसम्बर 1992 को ढहाए गए बाबरी मस्जिद पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा, उसे आखिरी माना जा सकता है। अयोध्या के विवादित ज़मीन पर सुप्रीम कोर्ट में तीन पैरोकार हैं। ये तीनों पैरोकार ज़मीन पर अपना हक बता रहे हैं।

आज सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में अपनी पहली बात रखी है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मसले में तीसरे हस्तक्षेप की सारी याचिकाएं खारिज कर दी हैं। तीसरे हस्तक्षेप के वकील भाजपा नेता सुब्रमणियम स्वामी हैं। कोर्ट ने कहा कि वो दो ही याचिकाएं को पहले सुनेगी। जैसे ही कोर्ट ने तीनों याचिकाओं की मौलिकता के बारे में पूछा तो स्वामी इस बारे में कहने लगे। इसपर बाकी वकीलों ने हंगामा करना शुरु कर दिया। मुस्लिम पक्ष के राजीव धवन ने स्वामी का विरोध करना शुरु कर दिया।

इसके बाद सुब्रमणियम स्वामी नाराज़ हो गए और ये कहने लगे कि पहले भी विरोधी पक्षकारों ने उनके आगे बैठने और कुर्ते-पायजामे पर टिप्पणी की है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि पहले मुस्लिम पक्षकारों की याचिका आई है तो पहले वो मुस्लिम पक्षकारों की ही बात सुनेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here