गर्मियों में कामगार दादी मां के नुस्खे, ऐसे बचा जाए लू से

0
68

जयपुर। धीरे—धीरे तेज गर्मी का दौर बढ़ रहा है। पारा भी अपनी स्पीड बनाएं हुए है। जैसे—जैसे गर्मी बढ़ रहीं है वैसे—वैसे लू ने भी अपना रूप दिखाना शुरू कर दिया है। लू गर्मियों की आम समस्या है,क्योंकि गर्मी आयेगी तो लू लगना लगभग तय है। आज हम आपकों बताएंगें की लू कैसे लगती है और इससे कैसे बचा जा सकता है।

इसके लिए हमें दादी मां के नुस्खों को अपनाना होगा। इन नुस्खों की सहायता से हम अपने शरीर को फिट और स्वस्थ रख सकते है।

 

किन कारणों से लू लगती है

लू लगने के मुख्य कारण है पानी की कमी, तेज धूप में बिना कपड़ों के रहना,कहीं बाहर धूप से आकर ठण्डा पानी पीना,कूलर या ठण्डे कमरे से निकलकर धूप में जाने आदि कामों से लू लगने की सम्भावना रहती है। कई व्यक्ति तो ऐसे भी होते है जो शा​रीरिक रूप से कमजोर होते है वो थोड़ी सी धूप में जाने मात्र से लू की चपेट में आ जाते हैं। ऐसे लोगों को गर्मी के मौसम में अपने शरीर का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए।

लू के लक्षण

तेज बुखार होना व सांस लेने में तकलीफ होना,उल्टी होना, बार—बार मुह सुखना,चक्कर आना,शरीर में गर्मी होना और हाथ—पैरों में कमजोरी आना आदि ऐसे कई लक्षण है जिससे  लू होने का पता चलता है।

 

गर्मी के मौसम में लू से बचने के घरेलू उपाय

कोई भी मौसम क्यों ना हो हर मौसम में व्यक्ति किसी ना किसी बीमारी से परेशान रहता है। इनमें गर्मी के मौसम में लू लगना तो आम बात है। इससे बचने का सबसे आसान उपाय यह होता है कि हमें पानी का सेवन समय—समय पर करना चाहिए।

इसके अलावा हमें भारी व बासी खाने से बचना चाहिए क्योंकि गर्मीयों में शरीर की जठराग्नि धीमी हो जाती है,इसलिए हमारा शरीर भारी खाने का पचा नहीं पाता है। और जरूरत से ज्यादा खाने से उल्टी हो जाती है। लू से बचने के लिए हम कई प्रकार के उपाय  अपनाते है जिनमें से कोल्ड ड्रिंक मुख्य चीज होती है। जबकि कोल्ड ड्रिंक के इस्तेमाल से लू से बचा नहीं जा सकता है। हमें इसके स्थान पर कोई अन्य चीजे जैसे कि— घर में बनाया हुआ आम का पन्ना,बेल का शरबत, खस का ठण्डा शरबत, चन्दर गुलाब और फालसा का शरबत,संतरे का ज्यूस ठंडाई, सत्तू का शरबत, दही की लस्सी या छाछ आदि।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here