हस्तशास्त्र: शुभ नहीं माना जाता है हथेली पर बना ऐसा निशान

0

हर व्यक्ति के जीवन में हस्तशास्त्र और हस्तरेखा का विशेष महत्व होता हैं वही हथेली पर बनी रेखाएं मनुष्य के जीवन से जुड़ी होती हैं वही उसके जीवन और भविष्य के बारे में बहुत कुछ कहती हैं वही हस्तरेखा शास्त्र में चिह्न का बहुत ही महत्व होता हैं यह निशान शुभ और अशुभ दोनो तरह के संकेत प्रदान करती हैं वही इन्हीं में से एक निशा हैं वाई। हाथ में रखा के संयोजन से वाई का निशा बनता हैं वाई निशान के रेखाओं पर उपस्थिति और उसका स्थान बहुत ही मायने रखता हैं वही ज्योतिष के मुताबिक जीवन रेखा से निकलकर कोई रेखा चन्द्र पर्वत की ओर जाती हुई यह लकीर उल्टी वाई बनाती हैं यह रेखा देशने में भले ही सामान्य नजर आएं मगर व्यक्ति के जीवन में इकसा बहुत ही अधिक प्रभाव होता हैं वही हथेली में इस प्रकार की दो रेखाएं होती हैं एक रेखा जो कि शुभ संकेत देने वाली होती हैं और दूसरा अशुभ संकेत देने वाली होती हैं।

वही अगर रेखा जीवन रेखा से होकर चंद्र पर्वत पर जाकर रुक जाती हैं ऐसी स्थिति में बना वाई का निशान शुभ फलदायक माना जाता हैं ऐसे वाई के निशान जिस मनुष्य की हथेली में होता हैं वो विदेश यात्रा करते हैं ऐसे लोग अपना व्यवसाय करते हैं और वे विदेशों तक अपना कारोबार फैलाते हैं ऐसे लोग आर्थिक रूप से संपन्न होते हैं और खुशहाल जीवन जीते हैं वही जातक के हथेली की रेखा अगर जीवनरेखा से निकलकर साधारण वाई का निशान बना रही हैं तो इसे अशुभ माना जाता हैं यह रेखा जीवन, जीवनशक्ति को कम करने वाली मानी जाती हैं जिस उम्र में यह रेखा जीवन रेखा को काटती हैं उस उम्र में व्यक्ति की जीवन शक्ति कमजोर होने लगती हैं। ऐसा मनुष्य बीमार हो जाता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here