350 किलोमीटर दूरी की मारक क्षमता वाली मिसाइल का हुआ सफल परीक्षण

0
62

जयपुर। प्राचीन काल से शांति की पहल करने में भारत हमेशा से आगे रहा है। भारत अपनी कई सांस्कृतिक की वजह से पूरी दुनिया में मशहूर है। लेकीन यह अंधविशवास से थोड़ा पिछड़ गया है लेकीन यह कमजोर नहीं है लोग इसे बहुत ही पिछड़ा देश मानते है लेकीन ऐसा नहीं है। यह बुहत ही अच्छी तकनीक विकसित करने में सक्षम है हाल ही में इसने 104 उपग्रह अंतरिक्ष में भेज कर दुनिया को बता दिया  है की यह कमजोर नहीं है। यह दुश्मन को मुंह तोड़ जवाब देने में सक्षम है। हर देश अपनी सुरक्षा को लेकर हमेशा से ही सजक रहता है।

इसके लिए वह अपनी सुरक्ष के लिए नये नये हथियारों का अविष्कार करता है। उन्नत तकनीक और स्वदेशी विज्ञान प्रतिभा के चलते सुरक्षा क्षेत्र में भारत अपना परचम लहरा रहा है। इसी के चलते देश ने परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम मिसाइल पृथ्वी-2 का गत 18 फरवरी को सफल परीक्षण किया गया था। इसकी मारक क्षमता 350 किलोमीटर दूरी तक है। इसका परीक्षण ओडिशा के चांदीपुर स्थित एकीकृत परीक्षण केंद्र से किया गया था।

यह सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल है। को 18 फरवरी की रात करीब साढ़े आठ बजे चांदीपुर प्रक्षेपण परिसर-3 से प्रक्षेपित किया गया था। इसके अलावा अग्नि-1 और अग्नि-2 का भी अब्दुल कलाम द्वीप से सफल परीक्षण किया गया था। आपको जानकारी के लिए बता दे की पृथ्वी-2 मिसाइल 500 से एक हजार किलोग्राम तक के परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है। इस मिसाइल में लक्ष्य को भेदने के लिए आधुनिक जड़त्वीय दिशा-निर्देशन प्रणाली लगाई गई है। इस तकनीक से मिसाइल अपने पथ पर बड़ी कुशलता से आगे बढ़ती है और अपने लक्ष्य को भेदती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here