सुब्रमण्यम स्वामी ने Income Tax समाप्त करने की जरूरत बताई, जानें क्यों

0
48

जयपुर। भारतीय जनता पार्टी के नेता एवं सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिए आयकर समाप्त करने और इसके अलावा सावधि जमा पर ब्याज दर बढ़ाने तथा कर्ज पर ब्याज दम करने के लिए शनिवार को इस बात की वकालत करते हुए यह बातें कही है.

भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा से सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि जो मुख्य मुद्दा है वह यह है कि इस देश में अब आयकर को समाप्त कर देना चाहिए उन्होंने कहा कि सावधि जमा पर ब्याज दर बढ़ाकर 9% तथा कर्ज पर ब्याज दर को घटाकर 9% कर देना चाहिए और यह सही निर्णय होगा यह बात उन्होंने कही है और झा ने कहा कि यह तीन कदम उठाए जाने चाहिए और इनके उठाने के बाद से ही चीज है सुधरने लगेगी.

इसके अलावा उन्होंने कहा कि अगले महीने उनकी पुस्तक आने वाली है जिसमें उन्होंने आर्थिक वृद्धि को गति देने के उपायों के बारे में लिखा है और अपने सुझावों को दिया है, स्वामी ने इसके अलावा कहा कि अर्थव्यवस्था के लिए बहुत कुछ करे जाने की आज जरूरत है. उन्होंने कहा कि 5 सितंबर को मेरी एक पुस्तक आ रही है, जिसमें मैंने उन सभी चीजों का जिक्र करा है. जिसके आज देश में जरूरत है और अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए उन्हें कर आ जाना चाहिए.

इसके अलावा स्वामी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा उठाए गए कदमों से आर्थिक वृद्धि में सुधार की संभावना के बारे में पूछे जाने पर यह सभी टिप्पणियां करी थी.

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को भारत में मिलाया जाना चाहिए और इसके अलावा उन्होंने यह भी दावा किया कि तीनों में रहने वाले लोग पाकिस्तान में नहीं रहना चाहते हैं और वह भारतीय नागरिक बनना चाहते हैं.

 

स्वामी ने इस बयान को चंडीगढ़ में भारतीय जनता पार्टी की लोकसभा सदस्य किरण खेर और पंजाब के पूर्व पुलिस प्रमुख सुमेध सिंह सैनी के समर्थन में बात करते हुए कहा है और स्वामी ने वेकेशन ऑफ योग्य विषयक संगोष्ठी को संबोधित करते हुए यह बातें कहीं हैं और इसमें शामिल होने की बात उन्होंने कही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here