सुभासपा ने 39 सीटों पर उतारे प्रत्याशी

0
69

भारतीय जनता पार्टी से अलग होने के बाद आज सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने 39 प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है।

सुभासपा ने मंगलवार को लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस कर अपने 39 प्रत्याशियों के नामों का ऐलान कर दिया।

राजभर ने अपनी इस सूची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह के खिलाफ भी अपने उम्मीदवार उतारे हैं।

ओमप्रकाश राजभर ने कहा, “हम पूर्वांचल की धरती पर अपने सभी उम्मीदवारों के पक्ष में सभाएं भी करेंगे। हमे उम्मीद है कि हमारी पार्टी के विजेता उम्मीदवार सरकार बनाने में उपयोगी भूमिका में रहेंगे।”

सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने कहा, “भाजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ने की इच्छा आज भी है। लेकिन अपना दल को दो सीटें देने के बावजूद अब तक हमें एक भी सीट देने को राजी नहीं हुए। मुझे बुलाकर भाजपा के सिम्बल पर लड़ने के लिए समझाया जा रहा है। मैं अपने संगठन को खत्म कर भाजपा के सिम्बल पर चुनाव नहीं लड़ूंगा। मैंने सूबे की 39 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है।”

राजभर ने कहा कि वह समाज में अपनी उचित हिस्सेदारी न पाने वालों को टिकट देंगे और वह अपने उम्मीदवारों के प्रचार-प्रसार के लिए नहीं लड़ रहे हैं।

राजभर ने सपा-सपा को दागा जा चुका कारतूस बताया।

उन्होंने कहा, “भाजपा ने सिर्फ हमें विधायक नहीं बनाया, हमने भी उनके सैकड़ों विधायक बनाए हैं।”

टिकट पाने वालों में धरौहरा-राममूर्ति अर्कवंशी, सीतापुर-सुनील अर्कवंशी, मोहनलालगंज-विजय गौड़, लखनऊ-बब्बन राजभर, रायबरेली-अभय पटेल, अमेठी-जितेंद्र सिंह, सुल्तानपुर- कौशिल्या राजभर, प्रतापगढ़-विजय सिंह चौहान, बांदा-अनोखेलाल आरक, फतेहपुर-राजेश यादव, फूलपुर-उपेंद्र निषाद, इलाहाबाद-शिव कुमार प्रजापति, बाराबंकी-विश्वनाथ प्रताप निराला, फैजाबाद-रमाकांत कश्यप, अम्बेडकरनगर- आरपी सिंह, कैसरगंज-कन्हैया धनगर पाल, श्रावस्ती-वेद प्रकाश राजभर, गोंडा-शीला चौहान, डुमरियागंज- रामनिवास राजभर, बस्ती-विनोद राजभर, संतकबीर नगर- सतीश कुमार राजभर, महाराजगंज-मुरली मनोहर राजभर, गोरखपुर- राधेश्याम सैथवार, कुशीनगर-राजू राजभर, देवरिया- अजय सिंह, बांसगांव-सुरेश राम, लालगंज-दिलीप सरोज, आजमगढ़-यशवंत सिंह उर्फ विक्की सिंह, जौनपुर- बृजेश कुमार प्रजापति, मछलीशहर- ममता बनवासी, घोसी-महेंद्र राजभर, सलेमपुर-राजाराम राजभर, बलिया-विनोद तिवारी, गाजीपुर-मेजर रामजी राजभर, चंदौली- बैजनाथ राजभर, वाराणसी- सिद्धार्थ राजभर, भदोही-राहुल बारी, मिजार्पुर-दरोगा बियार, राबर्ट्सगंज-कैलाश नाथ कोल शामिल हैं।

न्यूज स्त्रेात आईएएनएस


SHARE
Previous articleराखी सावंत ने बनाया अपना कार्टुन भड़के यूजर्स ने कहा- ये है तुम्हारा असली लुक…
Next articleराजनाथ सिंह ने रोड शो के बाद किया नामांकन
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here