हरियाणा: स्कूल से निकाले जाने पर छात्र ने की प्रंसिपल की हत्या, जानिये मामला

0
332

स्कूल का मतलब होता है अनुशासन। जहाँ सिखाई जाती है हमें कि कैसे तहज़ीब के साथ रहना है। कैसे बड़ों की आदर की जाए, कैसे शिक्षकों का सम्मान किया जाए। विद्यालय का मतलब सिर्फ विद्या से नहीं है कि सिर्फ पढ़ाई लिखाई की जाए। स्कूल में तमाम तरह की शिक्षा दी जाती है। और जब कोई छात्र या छात्रा उस अनुशासन का पालन ना करे तो उसे फिर सज़ा दे दी जाती है। या तो उसे धूप में खड़ा कर देते हैं या फिर कान अमेठ के डांट देते हैं। ये किसी के लिए भी एक नार्मल सी बात होती है। कभी कभी कुछ ज़्यादा ही अनुशासनहीनता दिखाई दी जाए तो उस छात्र या छात्रा को स्कूल से निष्कासित भी कर दिया जाता है।

मामला है हरियाणा का। हरियाणा के यमुनानगर के एक प्राइवेट स्कूल के एक छात्र ने अपने स्कूल के प्रिंसिपल की गोली मार कर हत्या कर दी। लड़का 12वीं क्लास का छात्र था। कहा जा रहा है कि छात्र स्कूल से निष्कासित कर दिये जाने से गुस्से में था और उसने अपने ही प्रेसिपल की हत्या कर दी।

representational image

जानिये पूरा मामला

पुलिस के मुताबिक आरोपी स्टूडेंट आए दिन स्कूल में झगड़ा करता था और इसी वजह से उसे कुछ दिनों पहले स्कूल से निष्कासित कर दिया गया था। शनिवार को आरोपी स्कूल आया और प्रिंसिपल से मिलने की बात कह उनके कैबिन में गया और बैग में छिपा कर लाए रिवॉल्वर से गोलियां दाग दी। विवेकानंद स्कूल की प्रिंसिपल रितु छाबड़ा को इस घटना के बाद फौरन हॉस्पीटल ले जाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। आरोपी छात्र कॉमर्स का छात्र है और उसने अपने पिता की लाइसेंसी रिवॉल्वर से प्रिंसिपल पर गोलियों की बौछार कर दी।

पुलिस ने किया गिरफ्तार

हरियाणा पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही साथ पुलिस ने आरोपी के पिता के खिलाफ भी केस दर्ज कर लिया है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here