Stoke Market ने गोता लगाया, सेंसेक्स 531 अंक लुढ़का, निफ्टी 14,239 पर बंद

0

घरेलू शेयर बाजार में सोमवार को फिर बिकवाली के भारी दबाव में कोहराम का आलम बना रहा। सेंसेक्स पिछले सत्र से 531 अंक लुढ़ककर 48,348 के करीब बंद हुआ और निफ्टी भी 133 अंकों की गिरावट के साथ 14,239 पर बंद हुआ। हालांकि कारोबार की शुरुआत मजबूती के साथ हुई, लेकिन मुनाफावसूली हावी होने के कारण दोनों प्रमुख सूचकांक गोता लगाने लगे। ऊर्जा, तेल व गैस समेत आईटी और पावर सेक्टरों में भारी बिकवाली रही, जबकि हेल्थकेयर सेक्टर में लिवाली रहने से बाजार को थोड़ा सहारा मिला। सेंसेक्स बीते सत्र से 530.95 अंकों यानी 1.09 फीसदी की गिरावट के साथ 48,347.59 पर बंद हुआ और निफ्टी भी 133 अंक यानी 0.93 फीसदी फिसलकर 14,238.90 पर ठहरा।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 375.14 अंकों की तेजी के साथ 49,253.68 पर खुलने के बाद 49,263.15 तक चढ़ा, लेकिन बिकवाली के दबाव में बंद होने से पहले 48,274.92 तक फिसला।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी पिछले सत्र से 105.90 अंकों की तेजी के साथ 14,477.80 पर खुला और 14,491.10 तक उछला, जबकि दिनभर के कारोबार के दौरान निफ्टी का निचला स्तर 14,218.60 रहा।

बीएसई मिडकैप सूचकांक बीते सत्र से 214.53 अंकों यानी 1.14 फीसदी की गिरावट के साथ 18,547.34 पर बंद हुआ और स्मॉलकैप सूचकांक 211.25 अंकों यानी 1.15 फीसदी की गिरावट के साथ 18,210.80 पर ठहरा।

सेंसेक्स के 30 शेयरों में से सिर्फ नौ शेयर बढ़त के साथ बंद हुए, बाकी 21 शेयरों में गिरावट दर्ज की गई। सबसे ज्यादा तेजी वाले पांच शेयरों में एक्सिस बैंक (2.19 फीसदी), सनफार्मा (2.00 फीसदी), बजाज ऑटो (1.76 फीसदी), बजाज फिनसर्व (1.47 फीसदी) और एचडीएफसी बैंक (1.30 फीसदी) शामिल रहे।

सेंसेक्स के सबसे ज्यादा गिरावट वाले पांच शेयरों में रिलायंस (5.36 फीसदी), इंडसइंड बैंक (4.72 फीसदी), एचसीएलटेक (3.80 फीसदी), एशियन पेंट (3.17 फीसदी) और अल्ट्राटेक सीमेंट (3.04 फीसदी) शामिल रहे।

बीएसई के 19 सेक्टरों में से सिर्फ तीन सेक्टरों के सूचकांक बढ़त के साथ बंद हुए जबकि 16 सेक्टरों में गिरावट दर्ज की गई। बढ़त वाले सेक्टरों में हेल्थेयर (0.93 फीसदी), धातु (0.19 फीसदी) और आधारभूत सामग्री (0.04 फीसदी) शामिल रहे। वहीं, सबसे ज्यादा गिरावट वाले पांच सेक्टरों में ऊर्जा (4.44 फीसदी), तेल व गैस (2.16 फीसदी), पावर (1.41 फीसदी), औद्योगिक (1.32 फीसदी) और आईटी (1.31 फीसदी) शामिल रहे।

जानकार बताते हैं कि एशिया के अन्य बाजारों से सकारात्मक संकेत मिलने के बावजूद घरेलू शेयर बाजार में मुनाफावसूली के चलते भारी गिरावट दर्ज की गई।

नयूज स्त्रोत असईएएनएस

SHARE
Previous articleइस महान खिलाड़ी ने Joe Root की जमकर की तारीफ , जानिए क्या कुछ कहा
Next articlePradosh vrat 2021: 26 जनवरी को है भौम प्रदोष व्रत, इस तरह करें शिव पूजन
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here