भौतिकी में नहीं गणित में रूचि रखते थे मशहूर भौतिकशास्त्री स्टीफन हॉकिंग

0
190

प्रसिद्ध विज्ञानी स्टीफन हॉकिंग का जन्म 8 जनवरी 1942 को ब्रिटेन में हुआ था। परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी। उस समय द्वितीय विश्व युद्ध के कारण पेट पालना बहुत चुनौतीपूर्ण था। ऐसे में एक सुरक्षित ठिकाने की तलाश में उनका परिवार ब्रिटेन स्थित ऑक्सफोर्ड आ गया।

स्टीफन का स्कूली जीवन बहुत मुश्किलों में बीता। वे शुरू में अपनी कक्षा में औसत दर्जे के छात्र थे। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि स्टीफन को शुरु में गणित में दिलचस्पी थी। उन्होंने गणितीय समीकरणों को हल करने के लिए कुछ लोगों की मदद से पुराने इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के हिस्सों से कंप्यूटर भी बनाया था। वे गणित पढ़ना चाहते थे।

लेकिन ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में गणित न होने से उन्हें फिजिक्स ही पढ़ना पड़ा। उसी फिजिक्स के दम पर आज स्टीफन हॉकिंग की गिनती दुनिया के सबसे महानतम वैज्ञानिकों में की जाती है। जिन्होंने बिग बैंग थ्योरी के साथ दुनिया की सोच को एक नया पहलू दिया। हॉकिंग को देखकर यह कभी नहीं लगता था कि इस स्थिति में भी कोई इतने महान काम कर सकता है। इस असाधारण व्यक्ति ने अपनी इच्छाशक्ति से चिकित्सा विज्ञान को झूठा साबित कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here